Home हरदोई अमृत देगी शहर के 30 हजार घरों को विशेष (Uniqe) पहचान

अमृत देगी शहर के 30 हजार घरों को विशेष (Uniqe) पहचान

हरदोई। सूबे के अमृत शहर में शुमार अपने शहर के हर घर को अलग पहचान मिलेगी। हर घर का यूनिक(Uniqe) आईडी कोड होगा। नगर पालिका भी सिर्फ एक क्लिक से पालिका क्षेत्र के किसी भी मकान का पूरा आंकलन कर सकेगी। नगर पालिका के अधिकारियों का कहना है कि सर्वे शुरू हो गया है। शहर के करीब तीस हजार मकानों को यूनिक (Uniqe) आईडी मिलेगी तो पालिका को उचित टैक्स की प्राप्ति भी हो सकेगी।

डोर टू डोर हो रहे सर्वे में अपट्रान पॉवरट्रॉनिक्स लिमिटेड के कर्मी घर जाएंगे। कर्मचारी हर घर का दरवाजा खटखटाएंगे। संपत्ति की तस्वीर लेंगे, घर मालिक-किरायेदार की जानकारी के साथ पूरी डिटेल सॉफ्टवेयर पर अपलोड करेंगे।

इसके बाद संपत्ति कर की चोरी नहीं की जा सकेगी। शहर की आबादी डेढ़ लाख से अधिक है। अभी तक 30 हजार परिवार शहर में रह रहे हैं, लेकिन पंजीकरण इससे भी काफी कम है। सर्वे के बाद जहां शहर के लोगों को अपने मकान, दुकान और कांप्लेक्स का यूनिक (Uniqe) आईडी नंबर मिलेगा, वहीं पालिका को भी बढ़े हुए मकान, दुकान का पूरा सर्वे प्राप्त होगा और इसकी मदद से उन्हें टैक्स लेने में भी आसानी होगी।
नगर पालिका ईओ रविशंकर शुक्ल का कहना है कि यह शहर अमृत शहर की श्रेणी में शामिल हैं। सूबे के कई शहरों ने इस सर्वे को पूरा करा लिया है। यहां भी सर्वे शुरू कर दिया गया है। शुरुआत आवास विकास कालोनी से हो गई है। एजेंसी के कर्मचारियों को आईडी कार्ड दिए गए हैं, जो घर-घर पहुंचेंगे। शहरवासी सर्वे में अपना सहयोग करें ताकि सर्वे जल्द से पूर्ण हो सके।

जीआईएस सर्वे रोकेगा टैक्स चोरी

कर्मचारियों के वेतन समेत खर्चे इन्हें संपत्तिकर, जल कर समेत अन्य करों से निकालने होते हैं, इसलिए अब इनके सामने चुनौती है कि ये टैक्स चोरी रोकें, यही वजह है कि अब आधुनिक तकनीक का सहारा लिया जा रहा है। जीआईएस सर्वे उसी में से एक है।
शहर में अभी करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये की टैक्स वसूली की जाती है, लेकिन कई गुना चोरी हो जाती है। उम्मीद है कि इस सर्वे से पालिका का टैक्स 10 गुना से अधिक बढ़ जाएगा।
इस सर्वे के बाद पालिका की संपत्ति भी सुरक्षित रहेगी जो अभी अतिक्रमण में है उसे भी मुक्त करा लिया जाएगा। भविष्य में भी पालिका की जमीन पर अतिक्रमण करना लोगों को काफी मुश्किल होगा।
ये सारी डिटेल देनी होंगी


सर्वे के दौरान मकान मालिक का नाम, आधार कार्ड और पहचानपत्र के साथ। पूर्व में किए गए संपत्ति कर का भुगतान की रसीद देनी होगी। प्लॉट एरिया और कंस्ट्रक्शन एरिया, जिसकी फोटोग्राफी की जाएगी। नल कनेक्शन है तो उसकी भी जानकारी देनी होगी। ईओ रविशंकर शुक्ल

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -

Most Popular

राहत: यूपी सरकार ने दी खुली जगहों पर शादी समारोह की अनुमति,जाने क्या है शर्तं

लखनऊ : यूपी सरकार ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए खुले स्थानों पर वैवाहिक समारोह आयोजित करने की अनुमति दे दी...

हरदोई: डांस के दौरान चली गोली, युवक की मौत

हरदोई: जिले में गोली लगने से युवक की मौत का मामला सामने आया है। कछौना कोतवाली क्षेत्र के ग्राम लायकखेड़ा में सोमवार रात...

हरदोई: टिन शेड ढहा, मलबे में दबकर मासूम की मौत

हरदोई : टड़ियावां थाना क्षेत्र के ग्राम जिगनिया खुर्द में सोमवार देर शाम टिन शेड अचानक ढह गया। मकान के मलबे में...

चेन स्नैचिंग गैंग सरगना अपने 1 बदमाश साथी के साथ गिरफ्तार

हरदोई: जिले में शहर कोतवाली पुलिस ने स्वाट और सर्विलांस टीम की मदद से अंतरजनपदीय बदमाशों के गैंग के सरगना को उसके...

Recent Comments

Translate »