Home हरदोई थाना प्रभारियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी : एसपी अनुराग वत्स

थाना प्रभारियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी : एसपी अनुराग वत्स

हरदोई: थाना प्रभारियों को काम करना ही होगा। उनके बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी। अपराध नियंत्रण, कानून व्यवस्था, जनसुनवाई और उनकी कार्यशैली पर उनका मूल्यांकन होगा।

थाना प्रभारियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी:एसपी अनुराग वत्स

एसपी अनुराग वत्स ने इंस्पेक्टर, उपनिरीक्षकों को थाना प्रभारी बनने के लिए खुद को साबित करने के लिए कहा था और उसी के आधार पर जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी। अब एसपी अनुराग वत्स ने कार्य के आधार पर थाना प्रभारियों का मूल्यांकन शुरू कराया है, थानों की बनाई गई श्रेणियों में जिन थानों में वर्ष 2019 में 600 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हुए थे, उनमें कोतवाली शहर, कोतवाली देहात, बघौली, बिलग्राम, संडीला, शाहाबाद, पिहानी और बेनीगंज को एक श्रेणी में रखा गया है।

500 से अधिक मामले दर्ज होने वाले थानों में मल्लावां, सांडी, कछौना, अतरौली, पाली, मझिला, हरपालपुर, लोनार और टड़ियावां की दूसरी श्रेणी बनाई गई है। 500 से कम अपराध में कासिमपुर, सुरसा, माधौगंज, पचदेवरा, अरवल, बेहटागोकुल और महिला थाना को तीसरी श्रेणी में रखे गए हैं।

थानों की उसी श्रेणी के थाने से कंपटीशन होगा और निर्धारित बिदुओं पर अलग अलग अंक दिए जाएं। हर श्रेणी में मिले अंकों के आधार पर 25 थानों में जिसे सबसे अधिक अंक मिलेंगे वहीं टॉप थाना रहेगा और फिर क्रमवार 10 अच्छे थाने निर्धारित होंगे। एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि कड़ी प्रतिस्पर्धा में जिस थाना प्रभारी का अच्छा काम सामने आएगा, उसे पुरस्कार दिया जाएगा, जो फिसड्डी होंगे उनका उसी के आधार पर मूल्यांकन होगा। इन बिदुओं पर होगा

मूल्यांकन, मिलेंगे अंक

आइजीआरएस निस्तारण, अपराध पंजीकरण, त्रिनेत्र एवं डोजियर फीडिग, गैंगस्टर पंजीकरण, गैंगस्टर में संपत्ति जब्तीकरण, इनाम घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी, गंभीर अज्ञात मामलों के अनावरण, डीजीपी के सर्कुलरों का अनुपालन, माल निस्तारण, अपहर्ता की बरामदगी, निरोधात्मक कार्रवाई, विवेचना निस्तारण, वाहन चालान, जमीनी विवाद के निस्तारण, रिट याचिका निस्तारण, प्रतिशपथ पत्र निस्तारण, जमानत प्रार्थना पत्रों के निस्तारण, टाप-10 अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई, एंटी रोमियो अभियान, गैंग माफिया पंजीकरण, माफिया चिन्हिकरण। अच्छी प्रगति न होने पर कटेंगे अंक

अच्छे काम पर जहां अंक मिलेंगे वहीं प्रगति अच्छी न होने पर अंक कट भी जाएंगे। जैसे कि अपहर्ताओं की बरामदगी न होने, वांक्षितों की गिरफ्तारी न होने, विवेचनाओं का समय से निस्तारण न होने आदि पर अंक कटेंगे भी।

- Advertisment -

Most Popular

वरुण गांधी ने फिर किया किसानों के समर्थन में ट्वीट

पीलीभीत। भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी का ताजा ट्वीट सियासी हलकों के साथ किसान संगठनों और किसानों के बीच एक...

भाजपा किसी को भी आतंकी बना सकती है: डिंपल यादव

वाराणसी : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव विजयदशमी के दिन मां विंध्यवासिनी के...

हाईवे पर कारों की भिड़ंत में एक की मौत, 9 घायल

सीतापुर: कोतवाली सिधौली इलाके में शुक्रवार को दो कारों की आमने सामने जोरदार भिड़ंत में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि...

अधिवक्ता के पुत्र की हत्या कर मांगी 50 लाख की फिरौती,दो आरोपी गिरफ्तार

बाराबंकी: फिरौती के लिए एक अधिवक्ता के नाबालिग पुत्र की दो युवकों ने हत्या कर दी। इसकी सूचना पर सक्रिय हुई पुलिस...

Recent Comments

Translate »