Home लखीमपुर दहेज: पति व सास-ससुर को 8 साल की कैद

दहेज: पति व सास-ससुर को 8 साल की कैद

लखीमपुर खीरी। अतिरिक्त दहेज के लिए नवविवाहिता को प्रताड़ित कर मौत के घाट उतारने के आठ साल पुराने मामले में एडीजे राजेश मिश्र ने मृतका के पति व सास-ससुर को दोषी पाया है। अदालत ने तीनों आरोपियों को आठ साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही तीनों पर बीस हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

यह भी पढ़ें : संविदा कर्मियों की हड़ताल से ग्रामीण क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाएं बेपटरी

अभियोजन पक्ष रखते हुए विशेष लोक अभियोजक संजय सिंह ने अदालत में बताया कि नीमगांव थाना क्षेत्र के ग्राम अटवा निवासी सुशील कुमार की शादी मार्च 2012 में महेश प्रसाद की लड़की कांति के साथ हुई थी। शादी में मायके वालों ने अपनी हैसियत से बढ़कर दान दहेज भी दिया था, लेकिन पति सुशील कुमार, सास प्रेमा देवी और ससुर जगन्नाथ अतिरिक्त दहेज की मांग के चलते नवविवाहिता कांति देवी को लगातार प्रताड़ित करते थे। माता-पिता से कहकर 60 हजार रुपये लाने को धमकाया जाता था। इसी कड़ी में 4 मई 2013 को कांति देवी की आग लगाकर हत्या कर दी गई।

यह भी पढ़ें : गैरहाजिरी पर 24 कर्मचारियों का सीडीओ ने रोका वेतन

इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कांति के पिता महेश प्रसाद ने थाना नीमगांव में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तत्कालीन सीओ दिनेश पुरी, अखिलेश नारायण सिंह ने जांच के बाद आरोपी पति,सुशील कुमार, ससुर जगन्नाथ और सास प्रेमा देवी के खिलाफ चार्जशीट अदालत में दाखिल की थी। अदालती सुनवाई के बाद तीनों को दहेज मृत्यु के मामले में दोषसिद्ध पाया गया।

बुधवार को सजा के बिंदु पर सुनवाई करते हुए एडीजे राजेश मिश्र ने तीनों आरोपियों को 8 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही तीनों आरोपियों पर बीस हजार रुपया का जुर्माना भी लगाया है।

रोजगार से जुडी खबरों के लिए डाउनलोड करें ROJGAR ALERT App

- Advertisment -

Most Popular

जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 की हालत गंभीर

रायबरेली : उत्‍तर प्रदेश के रायबरेली के महाराजगंज कोतवाली क्षेत्र के पहाड़पुर गांव में शराब पीने से चार लोगों की मौत...

भाजपा में बगावत, पूर्व MLA सतीश वर्मा ने बसपा से ठोकी ताल

हरदोई : उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे वैसे दल- बदल का खेल तेज हो गया है।...

‘स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी’: समानता के लिए काम करने वाले संत रामानुजाचार्य को एक सच्ची श्रद्धांजलि

HBN: 11वीं सदी के सुधारक और वैष्णव संत, श्री रामानुज (रामानुजाचार्य)की 216 फीट ऊंची 'स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी' पर काम तेजी से चल...

समस्त निर्वाचन कार्मिकों को कोविड टीकाकरण का बूस्टर डोज प्रशिक्षण कक्ष में ही कराये जाने की व्यवस्था की जा रही हैः-आकांक्षा राना

हरदोई : मुख्य विकास अधिकारी/प्रभारी अधिकारी कार्मिक, कार्मिक एवं प्रशिक्षण आकांक्षा राना ने बताया है कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2022 में...
Translate »