Home हरदोई पंचायत व कम्पोजिट ग्रांट होने वाले कार्यो एवं लागत की अलग अलग...

पंचायत व कम्पोजिट ग्रांट होने वाले कार्यो एवं लागत की अलग अलग सूची उपलब्ध करायें:- जिलाधिकारी

विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों से मिलकर मिड डे मिल की उपलब्धता एवं बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त करें:- जिलाधिकारी
विद्यालयों में मल्टीबल हैण्डवास, पेयजल, शौचालय एवं विद्युत व्यवस्था अनिवार्य रूप से तत्काल पूर्ण करायें

विकास भवन सभागार में आहूत सर्व शिक्षा की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने विद्यालयों के निरीक्षण के चयनित टास्क फोर्स अधिकारियों से कहा कि विद्यालयों के निरीक्षण के साथ गांव में विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों से मिलकर मिड डे मिल की उपलब्धता एवं बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त करें और निरीक्षण में कमियां पाने पर तत्काल जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को अवगत कराते हुए इसका समाधान भी करायें तथा सभी नामित अधिकारी हर माह 5-5 विद्यालयों का शासन द्वारा निर्धारित 14 बिन्दुओं पर निरीक्षण अवश्य करें और निरीक्षण आख्या प्रेरणा ऐप पर खण्ड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से अनिवार्य रूप में अपलोड करायें। बैठक में माधौगंज व मल्लावां की प्रेरणा ऐप की खराब फीटिंग पर नाराजगी व्यक्त करते हुए दोनो खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये कि तीन दिन में प्रेरणा ऐप पर फीटिंग करायें।
बैठक में जिलाधिकारी पंचायत राज विभाग एवं कम्पोंजिट ग्रांट से स्कूलों में होने वाले कार्यो की समीक्षा करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव को निर्देश दिये कि मिशन कायाकल्प के तहत स्कूलों में पंचायत व कम्पोजिट ग्रांट होने वाले कार्यो एवं लागत की अलग अलग सूची उपलब्ध करायें। उन्होने उपस्थित सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सभी विद्यालयों में मल्टीबल हैण्डवास, पेयजल, शौचालय एवं विद्युत व्यवस्था अनिवार्य रूप से तत्काल पूर्ण करायें और इसके साथ ही क्षतिग्रत शौचालय, कक्ष, श्यामपट, रसोई घर, दिव्यांग बच्चों के लिए स्लेप आदि कार्यो को अध्यापकों के माध्यम से ठीक करायें और सभी कार्यो के माडल स्टीमेट बनाये जाये। ब्लाक भरावन, बेहंदर की खराब प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने बीएएस को निर्देश दिये कि दोनों खण्ड शिक्षा अधिकारियों का नवम्बर माह का वेतन रोके और लक्ष्य के अनुसार कार्य पूर्ण होने पर वेतन आहरित करें।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जिन बच्चों के पास मोबाइल के माध्यम से पढ़ने की सुविधा है उन्हें आनलाइन तथा शेष बच्चों या उनके अभिभावकों को विद्यालय में बुलाकर होम वर्क दिलाये और दूसरे दिन उसे अध्यापक द्वारा चेक भी किया जाये तथा आनलाइन व आफलाइन पढ़ने वाले बच्चों की संख्या अपलोड करायें। दीक्षा ऐप के संबंध में उन्होने बीएसए को निर्देश दिये कि शिक्षकों का प्रशिक्षण ब्लाकवार करायें और शासन द्वारा संचालित प्रेरणा ऐप, दीक्षा ऐप तथा निष्ठा ऐप पर अपलोड की जानी वाली जानकारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दिलाये और बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। बैठक में पीडी राजेन्द्र श्रीवास, जिला विकास अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी संजय कुमार पाण्डेय, जिला समाज कल्याण अधिकारी हर्ष मवार, जिला कार्यक्रम अधिकारी बुद्वि मिश्रा, लेखाधिकारी योगेश पाण्डेय सहित सभी खण्ड शिक्षा अधिकारी उपस्थित रहे।

- Advertisment -

Most Popular

वरुण गांधी ने फिर किया किसानों के समर्थन में ट्वीट

पीलीभीत। भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी का ताजा ट्वीट सियासी हलकों के साथ किसान संगठनों और किसानों के बीच एक...

भाजपा किसी को भी आतंकी बना सकती है: डिंपल यादव

वाराणसी : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव विजयदशमी के दिन मां विंध्यवासिनी के...

हाईवे पर कारों की भिड़ंत में एक की मौत, 9 घायल

सीतापुर: कोतवाली सिधौली इलाके में शुक्रवार को दो कारों की आमने सामने जोरदार भिड़ंत में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि...

अधिवक्ता के पुत्र की हत्या कर मांगी 50 लाख की फिरौती,दो आरोपी गिरफ्तार

बाराबंकी: फिरौती के लिए एक अधिवक्ता के नाबालिग पुत्र की दो युवकों ने हत्या कर दी। इसकी सूचना पर सक्रिय हुई पुलिस...

Recent Comments

Translate »