Home उन्नाव 2 दोस्तों की मौत के बाद भीड़ ने किया सड़क जाम, पुलिस...

2 दोस्तों की मौत के बाद भीड़ ने किया सड़क जाम, पुलिस पर किया पथराव, 15 पुलिसकर्मी लहूलुहान

उन्नाव: जिले के अकरमपुर में मंगलवार दोपहर कार की टक्कर से बाइक सवार दो दोस्तों की मौत पर भड़के परिजनों द्वारा सड़क जाम कर हंगामा करने के बाद से ही पुलिस अलर्ट थी। पोस्टमार्टम के बाद शव घर पहुंचने पर मगरवारा चौकी का पुलिसबल घर पर तैनात हो गया। इसके बावजूद पुलिस बवालियों के मंसूबे नहीं भांप सकी। बुधवार सुबह सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण शव लेकर सड़क पर पहुंचे तो पुलिस के होश उड़ गए।

यह भी पढ़ें –हरदोई: जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी, मतदान 3 जुलाई को

बड़ी संख्या में भीड़ के सड़क पर जाम लगाने और हंगामा करने की सूचना के बावजूद पुलिस बिना बॉडी प्रोटेक्टर के हाथों में डंडा लेकर पहुंच गई। इसका खामियाजा 15 पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा। सड़क हादसे में राजेश व विपिन की मौत के बाद से परिजनों में गुस्सा था।

वह लगातार कार चालक की गिरफ्तारी और 20 लाख मुआवजा दिलाने की मांग कर रहे थे। मंगलवार को उन्होंने इसी मांग को लेकर उन्नाव-रायबरेली मार्ग पर जिला अस्पताल के सामने जाम लगाया था। उस समय तो पुलिस ने मामला शांत करा दिया था पर शव गांव पहुंचने के बाद कुछ लोगों ने मुआवजा न मिलने की बात कह परिजनों को भड़का दिया।

यह भी पढ़ें – सपा ने मुन्नी गौतम को बनाया जिला पंचायत अध्यक्ष पद का प्रत्याशी,भाजपा से भी तय

रात से ही दोबारा सड़क जाम करने की योजना बनने लगी। सुबह 10 बजे मृतकों के गांव देवीखेड़ा के अलावा दयालखेड़ा, बाबाखेड़ा, उमरावखेड़ा व बग्गाखेड़ा के सैकड़ों लोग सड़क  पर पहुंच गए। गांव के सामने शव रखकर जाम लगा दिया। सदर कोतवाली के अलावा, गंगाघाट, अजगैन, माखी, अचलगंज स्वॉट कमांडो व महिला थाना के पुलिस तीन घंटे जाम हटाने के लिए परिजनों को समझाता रहा।

यह भी पढ़ें – योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला- UP में दुकान-मकान या जमीन खरीदने से पहले DM के यहां आवेदन जरूरी

भीड़ के न मानने पर हल्का बल प्रयोग किया तो भीड़ भड़क गई और पथराव शुरू कर दिया। जान बचाने के लिए कुछ पुलिस कर्मी सड़क के दूसरे छोर पर एक मकान के छज्जे के नीचे खड़े हो गए। पीछे भागने की जगह न मिलने पर भीड़ द्वारा चलाए गए ईंट-पत्थरों से कई पुलिस कर्मी घायल हो गए। किसी के सिर में गंभीर चोट आई और किसी का होंठ फट गया। बॉडी प्रोटेक्टर व हेलमेट न होने से कई पुलिस कर्मियों को गंभीर चोटें आई हैं। 

चार घंटे आवागमन बाधित 
जाम व पथराव के दौरान सड़क पर ईंटें बिछ गईं। सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक कानपुर-शुक्लागंज मार्ग पूरी तरह बाधित रहा। मरहला से होकर वाहन हाईवे से गंतव्य को निकले। शहर के गांधी नगर से गदनखेड़ा चौराहा की ओर से वाहन निकलने को मजबूर रहे। 

यह भी पढ़ें – योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब लाइफटाइम वैलिड रहेंगे टीईटी प्रमाण-पत्र

उपद्रव के बीच गलियों से निकलकर भीड़ बार-बार ईंट-पत्थर लेकर पुलिस पर पथराव करती रही। आसपास के दुकानदार शटर बंदकर दुकान के अंदर घुस गए। कई उपद्रवियों ने छतों पर चढ़कर पुलिस पर ईंट बरसाईं। पुलिस कर्मियों को घायल देख उच्चाधिकारियों का इशारा मिलते ही पुलिस ने जिसे पाया दौड़ाकर पीटा। महिला कमांडो फोर्स ने आगे मोर्चा संभाल रहीं महिलाओं को सबक सिखाया। पुलिस के लठियाने पर भगदड़ मच गई। पुलिस ने उपद्रव में शामिल लोगों को घरों से निकालकर पीटा और कोतवाली पहुंचाया। ग्रामीणों के अनुसार पुलिस ने मृतकों के परिजनों को भी गिरफ्तार किया है। 

शव छोड़कर भाग गए परिजन 
उपद्रवियों पर पुलिस की जवाबी कार्रवाई देख सड़क जाम किए परिजन शव छोड़कर भाग निकले। पुलिस ने शवों को सड़क से हटाकर किनारे कराया। पुलिस की दहशत में दो घंटे तक परिजन शवों को पास नहीं पहुंचे। अंतिम संस्कार में देरी होती देख पुलिस ने गांव जाकर पड़ोसियों के जरिए परिजनों को बुलवाकर गंगाघाट में शवों का अंतिम संस्कार कराया।

देश की हर नौकरी की खबर आप तक सबसे पहले आपकी अपनी एप्प “रोजगार अलर्ट “पर

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.hdibharat.rojgaralert
- Advertisment -

Most Popular

डीएम अविनाश कुमार, सीडीओ आकांक्षा राना समेत 126 महादानियों ने किया रक्तदान

हरदोई। अमर उजाला फाउंडेशन के तत्वावधान में बुधवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 126 महादानियों ने रक्तदान कर समाज को जनहित में...

क्या है ‘ग्लू ग्रांट’ (Glue Grant) योजना व ‘मेटा विश्‍वविद्यालय’ (Meta University)अवधारण?

चालीस केंद्रीय विश्वविद्यालय अकादमिक क्रेडिट बैंक व यूजी पाठ्यक्रमों में बहु-विषयक (multidisciplinary) को प्रोत्साहित करने के लिए ग्लू ग्रांट (Glue Grant) जैसे...

रोजा-इफ्तार कराने वाले लगा रहे संगम में डुबकी:उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

हरदोई : रसखान प्रेक्षागृह में पांच अरब 96 करोड़ 95 लाख रुपये की 159 कार्यों की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने...

65 बाघों का घर, पीलीभीत टाइगर रिजर्व, Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत बाध अभयारण्य उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में स्थित है और 2014 में इसे टाइगर रिजर्व के रूप में अधिसूचित किया...

Recent Comments

Translate »