Home हरदोई मल्लावां में बिजली न मिलने से किसानों ने किया प्रदर्शन

मल्लावां में बिजली न मिलने से किसानों ने किया प्रदर्शन

हरदोई: मल्लावां क्षेत्र में बिजली न मिलने से आहत किसानों ने विद्युत उपकेंद्र पर प्रदर्शन किया और बिजली आपूर्ति सही कराए जाने की मांग की। उधर, पिहानी क्षेत्र को जल्द ही जर्जर बिजली के तारों से निजात मिलेगी।

मल्लावां क्षेत्र के गौरी फीडर से करीब 20 गावों व करीब 150 ट्यूबवेल को विद्युत आपूर्ति की जाती है। खराब मशीन, जर्जर लाइन व बरसात न होने से लोड अधिक होने के चलते एक सप्ताह से लोगों को बिजली नहीं मिल पा रही है।

पंचायत चुनाव: 90 दिन में नहीं किया दावा तो, जब्त हो जाएगी जमानत राशि

बिजली न मिलने से किसानों की धान की फसल की रोपाई नहीं हो पाया रही है। जिनकी हो गई, उनकी सिचाई नहीं हो पा रही है। फीडर चलाने के लिए बिजली कर्मचारी फीडर से कुछ दिन कुछ गांव काट देते है और फिर उनको जोड़ देते है फिर दूसरे गांव काट दिए जाते है। इससे किसान परेशान हैं।

बुधवार को बरोहा, रामनगर, शाहपुर गंगा, तेजीपुर, राजेपुर के किसान अनिल, रोहित, रामपाल, अतुल, हेमंत, आशू, दिवाकर, विकास, छोटकाउनु सहित अनेक लोग पावर हाउस पर पहुंचे और वहां पर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह से बिजली नही मिल रही है, जिसके चलते उनकी फसल सूखने लगी है। किसानों ने एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया। किसानों ने कहा कि अगर बिजली व्यवस्था नहीं सुधरी तो पावर हाउस पर ही किसान अनशन करेंगे।

यूपी में 18 साल से पहले हो जाती है हर 5वीं युवती की शादी

जर्जर तारों के कारण से पिहानी नगर को सुचारू रूप से विद्युत की आपूर्ति नहीं हो पाती है। उप खंड अधिकारी कुलदीप सिंह ने बताया कि उन्होंने जर्जर तारों को बदलवाने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास शुरू कर दिए हैं। उसका स्टीमेट भी बना लिया गया है, जहां- जहां जर्जर तार हैं, जल्द ही बदल दिए जाएंगे, जिससे विद्युत आपूर्ति सुधर जाएगी।

देश की हर नौकरी की खबर आप तक सबसे पहले आपकी अपनी एप्प “रोजगार अलर्ट “पर

अनुराग कश्यप की बेटी ने ब्वॉयफ्रेंड संग मनाई पहली सालगिरह

- Advertisment -

Most Popular

डीएम अविनाश कुमार, सीडीओ आकांक्षा राना समेत 126 महादानियों ने किया रक्तदान

हरदोई। अमर उजाला फाउंडेशन के तत्वावधान में बुधवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 126 महादानियों ने रक्तदान कर समाज को जनहित में...

क्या है ‘ग्लू ग्रांट’ (Glue Grant) योजना व ‘मेटा विश्‍वविद्यालय’ (Meta University)अवधारण?

चालीस केंद्रीय विश्वविद्यालय अकादमिक क्रेडिट बैंक व यूजी पाठ्यक्रमों में बहु-विषयक (multidisciplinary) को प्रोत्साहित करने के लिए ग्लू ग्रांट (Glue Grant) जैसे...

रोजा-इफ्तार कराने वाले लगा रहे संगम में डुबकी:उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

हरदोई : रसखान प्रेक्षागृह में पांच अरब 96 करोड़ 95 लाख रुपये की 159 कार्यों की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने...

65 बाघों का घर, पीलीभीत टाइगर रिजर्व, Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत बाध अभयारण्य उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में स्थित है और 2014 में इसे टाइगर रिजर्व के रूप में अधिसूचित किया...

Recent Comments

Translate »