Home उत्तर प्रदेश सीतापुर: अपर मुख्य सचिव के हस्ताक्षर से 360 लोगों की फर्जी नियुक्ति...

सीतापुर: अपर मुख्य सचिव के हस्ताक्षर से 360 लोगों की फर्जी नियुक्ति जारी करने वाला गिरफ्तार

सीतापुर: राज्य भंडारण निमग (एफसीआई) में श्रमिक के पद पर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का हाई प्रोफाइल मामला सामने आया है। ठग ने 360 लोगों की नियुक्ति सूची अपर मुख्य सचिव समेत कई बड़े अफसरों के नाम से जारी कर डीएम को उन्हें नियुक्त करने का आदेश दिया। डीएम को शक होने पर उन्होंने मामले की जांच कराई। जांच में फर्जीवाड़ा सामने आया। गुरुवार को रामकोट पुलिस ने ठग को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया। आरोपी आल इंडिया वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन इंप्लाइज यूनियन का महामंत्री है। एसपी ने आरोपी पर 20 हजार का इनाम घोषित किया था।

पूरी खबर के लिए क्लिक करें – मोबाइल लूटने वाले गैंग का सरगना गिरफ्तार

एसओ रामकोट संजीव सोनकर ने बताया कि जनवरी में सीतापुर डीएम के पास लखनऊ से एक आदेश आया था। इसमें रामकोट इलाके में स्थित राज्य भंडारण निगम के गोदाम में कुछ लोगों को सरकारी श्रमिक के पद पर नौकरी देने को कहा गया था। ये आदेश पत्र अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, अनुसचिव सहकारिता विभाग लखनऊ शैलेंद्र कुमार, उपसचिव शिवा सिंह की ओर से उनके हस्ताक्षर से आया था।

पूरी खबर के लिए क्लिक करें –चौकी इंचार्ज को गोली मारने वाला हिस्ट्रीशीटर मिर्ची मुठभेड़ में गिरफ्तार

इस विभाग में इस तरह की कोई तैनाती नहीं होने के नियम के बावजूद बड़े अफसरों की ओर से आए आदेश को लेकर डीएम विशाल भारद्वाज को शक हुआ। उन्होंने मामले को एसपी आरपी सिंह के संज्ञान में लाते हुए पूरे मामले की जांच कराने के आदेश दिए। इस मामले की जांच रामकोट पुलिस को सौंपी गई। 

रामकोट थाने के दरोगा अनिल तिवारी ने लखनऊ पहुंचकर तीनों अफसरों से मिलकर जारी आदेश की प्रतियों को दिखाते हुए सच्चाई जानी तो सभी ने इस तरह का कोई भी आदेश पत्र नहीं जारी करने की बात कही। मामला हाई प्रोफाइल लोगों से जुड़ा होने की वजह से शासन ने भी इस मामले को संज्ञान में लिया।

देश की हर नौकरी की खबर आप तक सबसे पहले आपकी अपनी एप्प “रोजगार अलर्ट “पर

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.hdibharat.rojgaralert

एसओ रामकोट ने बताया कि इस बीच बीते 18 जनवरी को हरदोई जिले के थाना शाहाबाद इलाके के घोरहा गांव मूल निवासी, वर्तमान पता फ्लैट नंबर 103 सुकुति इंक्लेव पुराना एआरटीओ गौतमबुद्ध मार्ग थाना कैसरबाग लखनऊ निवासी श्याम किशोर पांडेय की ओर से एक पत्र डीएम के पास आया। इसमें पूर्व में नियुक्ति के लिए आए आदेश पत्र पर एफसीआई में नियुक्ति के लिए सिफारिश की। पत्र में श्याम किशोर ने खुद को आल इंडिया वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन इंप्लाइज यूनियन का महामंत्री बताया। इस तरह का पत्र मिलने के बाद डीएम का शक और यकीन में बदल गया।

हरदोई : जिला महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट होगा स्थापित, जिले में 6 हो जाएंगे प्लांट

 उधर, लखनऊ में अफसरों ने भी ऐसा आदेश जारी नहीं करने की बात कही। एसओ ने बताया कि पूरी जांच और तमाम सुबूतों को जुटाने के बाद सामने आया कि श्याम किशोर ने ही अपर मुख्य सचिव से लेकर तीनों अफसरों के नाम से फर्जी हस्ताक्षर से आदेश पत्र जारी कर फर्जीवाड़ा करने का प्रयास किया। इसी के बाद मामले में आरोपी के खिलाफ रामकोट थाने में केस दर्जकर पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी।

एसपी आरपी सिंह ने बताया कि गुरुवार को रामकोट पुलिस ने आरोपी श्याम किशोर पांडेय को रामकोट इलाके में हाईवे पर गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने जुर्म कुबूल किया है। एसपी ने बताया कि आरोपी को जेल भेजने की कार्रवाई की गई है।

- Advertisment -

Most Popular

यूपी चुनाव 2022: आजाद समाज पार्टी अकेले विधानसभा चुनाव लड़ेगी: चंद्रशेखर

नोयडा : आजाद समाज पार्टी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने नोएडा में प्रेस कांफ्रेंस करके एलान किया कि वे यूपी में अकेले...

पार्टी उनके बेटे को टिकट देती है, तो सांसद पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हूँ :रीता बहुगुणा

प्रयागराज: सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने अपने पुत्र मयंक जोशी को विधानसभा चुनाव का टिकट पक्का करने के लिए अपनी सांसदी छोड़ने...

प्रशासन ने खाली कराया बैंक में बंधक मकान

हरदोई। पिहानी चुंगी के निकट एक मकान व दुकान को सोमवार को तहसील प्रशासन ने खाली करवाकर बैंक को सौंप दिया। इस...

मुख्य विकास अधिकारी द्वारा टीकाकरण बूथों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया

ग्राम कमरौली में अनुपस्थित पंचायत सहायक के विरूद्ध कार्यवाही के निर्देश दिये गये हरदोई : आज मुख्य विकास अधिकारी...

Recent Comments

Translate »