Home हरदोई हरदोई: दिव्या ने लेफ्टिनेंट बनकर बढ़ाया मान

हरदोई: दिव्या ने लेफ्टिनेंट बनकर बढ़ाया मान

हरदोई: भावुक, कोमल और कमजोर समझी जाने वाली लड़कियां आज शक्ति, साहस और सफलता का पर्याय बनकर मां-बाप के सपने को सच कर रही हैं। हरदोई की दिव्या सिंह चौहान ने भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बनकर न सिर्फ अपने परिवार का मान बढ़ाया बल्कि जिले का नाम भी रोशन किया है। दिव्या की नियुक्ति की जानकारी मिलते ही शहर के धर्मशाला रोड स्थित नबीपुरवा मोहल्ले में जश्न का माहौल हो गया। फोन करके व घर पहुंचकर बधाइयां देने वालों का तांता लगा रहा।

हरदोई : प्रभारी मंत्री सतीश महाना ने प्रदेश सरकार की 4 साल की बताईं उपलब्धियां

दिव्या सिंह चौहान के पिता राजेश सिंह डाक विभाग हरदोई में लखनऊ रोड ब्रांच में सब पोस्ट मास्टर के पद पर व मां पूनम सिंह कौढ़ा शाखा डाकघर में ब्रांच पोस्ट मास्टर के पद पर कार्यरत हैं। पिता ने बताया कि दिव्या का चयन वर्ष 2016 में मिलिट्री नर्सिंग सर्विस (एमएनएस) कोर में नर्सिंग आफिसर के पद पर हुआ था। इसके बाद पांच वर्षों का कठिन प्रशिक्षण मुंबई स्थित अश्वनी कालेज आफ नसिंर्ग में पूरा किया।

6 अरब 38 करोड़ रुपये की जिला योजना के प्रस्ताव पारित

18 मार्च 2021 को पासिंग आउट परेड संपंन हुई। 23 मार्च को 7 एयर फोर्स हॉस्पिटल कानपुर में नर्सिंग आफिसर के पद पर कार्यभार ग्रहण करके उसने देश की सेवा प्रारम्भ की है।

हरदोई : अवैध संबंधों के चलते पति को जिंदा जलाया

श्री सिंह ने बताया कि दिव्या बचपन से ही मेधावी व प्रखर बुद्घि की रही। चार वर्ष की उम्र में बेहतर पढ़ाई के लिये अपनी बुआ रजनी चौहान के पास कोचीन चली गई थी। वहां पर उसने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा प्राप्त की। उसके बाद उसने एयरफोर्स ठाणे (महाराष्ट्र) स्थित केंद्रीय विद्यालय में इंटर मीडिएट तक की पढ़ाई पूरी की। साथ ही सीपीएमटी की परीक्षा की तैयारी की थी। डॉ. हरिशंकर मिश्र महाविद्यालय मलिहामऊ हरदोई से बायोलॉजी से बीएससी की डिग्री हासिल की। उन्होंने बताया कि उनकी दिव्या समेत तीन बेटियां व एक बेटा है। दूसरी बेटी स्तुति सिंह बीबीए कर रही है।

डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें: देश और प्रदेश की लेटेस्ट ख़बरों के लिए अभी डाउनलोड करें HDI Bharat News App

स्तुति भी भारतीय सेना में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहती हैं। वहीं सबसे छोटी बेटी अदिति सिंह दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए में पढ़ रही हैं। बेटा युवराज हरदोई में ही रहकर कक्षा सात में पढ़ाई करता है।

- Advertisment -

Most Popular

डीएम अविनाश कुमार, सीडीओ आकांक्षा राना समेत 126 महादानियों ने किया रक्तदान

हरदोई। अमर उजाला फाउंडेशन के तत्वावधान में बुधवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 126 महादानियों ने रक्तदान कर समाज को जनहित में...

क्या है ‘ग्लू ग्रांट’ (Glue Grant) योजना व ‘मेटा विश्‍वविद्यालय’ (Meta University)अवधारण?

चालीस केंद्रीय विश्वविद्यालय अकादमिक क्रेडिट बैंक व यूजी पाठ्यक्रमों में बहु-विषयक (multidisciplinary) को प्रोत्साहित करने के लिए ग्लू ग्रांट (Glue Grant) जैसे...

रोजा-इफ्तार कराने वाले लगा रहे संगम में डुबकी:उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

हरदोई : रसखान प्रेक्षागृह में पांच अरब 96 करोड़ 95 लाख रुपये की 159 कार्यों की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने...

65 बाघों का घर, पीलीभीत टाइगर रिजर्व, Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत बाध अभयारण्य उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में स्थित है और 2014 में इसे टाइगर रिजर्व के रूप में अधिसूचित किया...

Recent Comments

Translate »