Home क्राइम हाथरस कांड : SC के रिटायर्ड जज की निगरानी में हो जांच,DM...

हाथरस कांड : SC के रिटायर्ड जज की निगरानी में हो जांच,DM को किया जाए सस्पेंड-पीड़िता का भाई

जिलाधिकारी प्रवीण लक्षकार का एक कथित वीडियो सामने आया है, जिसमें वह परिवार को धमकाते हुए नजर आ रहे हैं. लिहाजा उन्हें भी हटाने की मांग जोर पकड़ रही है.

: उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किए जाने के बाद अब DM को हटाए जाने की मांग जोर पकड़ रही है. प्रियंका गांधी वाड्रा के बाद पीड़िता के भाई ने भी कहा कि हम चाहते हैं किस के डीएम को निलंबित किया जाए. साथ ही सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश के अधीन जांच कराने की मांग की गई है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कथित गैंगरेप मामले में पीड़िता के भाई ने कहा, “हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त जज के अधीन जांच कराई जाए. साथ ही हम यह भी चाहते हैं कि हाथरस के जिलाधिकारी को सस्पेंड किया जाए.”   

कांग्रेस महासचिव और पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाथरस मामले में जिलाधिकारी को बर्खास्त कर उनकी भूमिका की जांच की मांग की है. प्रियंका ने रविवार को ट्वीट किया, “हाथरस के पीड़ित परिवार के अनुसार सबसे बुरा बर्ताव डीएम का था. उन्हें कौन बचा रहा है? उन्हें अविलंब बर्खास्त कर पूरे मामले में उनकी भूमिका की जाँच हो.” 

उन्होंने कहा, “परिवार न्यायिक जांच मांग रहा है तब क्यों सीबीआई जांच का हल्ला करके एसआईटी की जांच जारी है. यूपी सरकार यदि जरा भी नींद से जागी है तो उसे परिवार की बात सुननी चाहिए.” 

गौरतलब है कि हाथरस में पिछले दिनों एक दलित लड़की से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी मौत के मामले में राज्य सरकार ने शुक्रवार को वहां के पुलिस अधीक्षक, पुलिस क्षेत्राधिकारी और इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था. 

इसी बीच, जिलाधिकारी प्रवीण लक्षकार का एक कथित वीडियो सामने आया है, जिसमें वह परिवार को धमकाते हुए नजर आ रहे हैं. लिहाजा उन्हें भी हटाने की मांग जोर पकड़ रही है.

ज्ञातव्य है कि प्रियंका और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी. राज्य सरकार ने शनिवार देर शाम ही घटना की सीबीआई से जांच कराने की सिफारिश कर दी थी. हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में गत 14 सितंबर को दलित लड़की से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया गया था. इस दौरान गंभीर रूप से चोटिल होने पर उसे अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसके बाद उसे दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में ले जाया गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी. इस घटना को लेकर विपक्ष ने सरकार को जमकर घेरा था.

- Advertisment -

Most Popular

जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 की हालत गंभीर

रायबरेली : उत्‍तर प्रदेश के रायबरेली के महाराजगंज कोतवाली क्षेत्र के पहाड़पुर गांव में शराब पीने से चार लोगों की मौत...

भाजपा में बगावत, पूर्व MLA सतीश वर्मा ने बसपा से ठोकी ताल

हरदोई : उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे वैसे दल- बदल का खेल तेज हो गया है।...

‘स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी’: समानता के लिए काम करने वाले संत रामानुजाचार्य को एक सच्ची श्रद्धांजलि

HBN: 11वीं सदी के सुधारक और वैष्णव संत, श्री रामानुज (रामानुजाचार्य)की 216 फीट ऊंची 'स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी' पर काम तेजी से चल...

समस्त निर्वाचन कार्मिकों को कोविड टीकाकरण का बूस्टर डोज प्रशिक्षण कक्ष में ही कराये जाने की व्यवस्था की जा रही हैः-आकांक्षा राना

हरदोई : मुख्य विकास अधिकारी/प्रभारी अधिकारी कार्मिक, कार्मिक एवं प्रशिक्षण आकांक्षा राना ने बताया है कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2022 में...
Translate »