Homeकृषिखुशखबरी: खेत के पास जानवरों के आते ही फसल रक्षक यंत्र बजाएगा...

खुशखबरी: खेत के पास जानवरों के आते ही फसल रक्षक यंत्र बजाएगा तेज सायरन, मोबाइल पर भेजगा मैसेज

spot_img

किसान इस समय जानवरों से फसल बचाते- बचाते परेशान हो चूका हैं, लेकिन अब किसानों के लिए एक अच्छी खबर है। बीटेक कर रहे चार छात्रों ने एक ऐसा फसल रक्षक यंत्र बनाया है जो आपके खेत के पास जानवर के आने पर तेज आवाज में हूटर बजाएगा इतना ही नहीं मोबाइल पर मैसेज भी भेजेगा। हूटर तब तक बजेगा जब तक जानवर खेत से दूर नहीं चले जाते.

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Google News Follow

इन युवाओं ने इंटरनेट ऑफ थिंग्स पर आधारित इस यंत्र का नाम फसल रक्षक रखा है। ग्रामीण विकास मंत्रालय ने इस नवाचार को स्वीकृति भी दी है। फसल रक्षक यंत्र को बनाने में 40 से 50 हजार रुपये की लागत आई है। छात्र लागत कम करने और सेंसर का दायरा बढ़ाने में जुटे हैं।

बुद्धा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग के हर्ष कुमार मिश्रा, शिवम कुमार चौरसिया, आदित्य कसौधन और अनिल कुमार चौधरी ने इंटरनेट ऑफ थिंग्स आधारित यंत्र को बनाया है. इस यंत्र को बनाने में करीब एक माह का समय लगा है।

फसल रक्षक यंत्र की खासियत यह है कि यह जहां लगेगा, उसके 500 मीटर के दायरे में किसी भी जानवर के आने पर तेज आवाज में हूटर बजाएगा। इसमें एक मोबाइल सिम भी लगाई गयी है, जिसमें 20 नंबर दर्ज किए जा सकते हैं। सभी नंबरों पर ‘अटेंशन प्लीज’ का मैसेज आएगा।

मैसेज आते ही किसान सतर्क हो जाएंगे और पशु फसल को नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे। कॉलेज के निदेशक डॉ. दीपक अग्रवाल ने बताया कि नवाचार को पेटेंट कराने के लिए आवेदन किया गया है। पेटेंट होने के बाद बाजार में लाने के लिए यंत्र बनाया जाएगा।

फसल रक्षक यंत्र जानवरों को भी पहचान कर सकेगा

छात्रों ने पहचान के लिए फोटो के आधार पर जानवरों की कोडिंग की है। नीलगाय, गाय, भैंस, सांड आदि जानवरों के साथ ही कुछ पक्षियों का फोटो भी अपलोड किया गया है। जैसे ही ये जानवर खेत की तरफ बढ़ेंगे, सेंसर इन्हें पहचान लेगा।

spot_img
- Advertisment -spot_img

ताज़ा ख़बरें