Homeदेशरेल हादसा: बिना इंजन के 18 बोगियां पटरी पर दौड़ी, बाल-बाल बचे...

रेल हादसा: बिना इंजन के 18 बोगियां पटरी पर दौड़ी, बाल-बाल बचे यात्री

spot_img
spot_img

नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड पर गुरुवार सुबह बड़ा रेल हादसा होते-होते टल गया। मझौलिया-बेतिया रेलवे स्टेशन के बीच महोद्दीपुर पास 15273 सत्याग्रह एक्सप्रेस का इंजन कई एक दर्जन से अधिक बोगियों को छोड़कर चला गया। जिसके बाद बिना इंजन के बोगियां पटरी पर दौड़ने लगी।

मिली जानकारी के अनुसार 15273 सत्याग्रह एक्सप्रेस इंजन और सिर्फ चार बोगी लेकर चली गई, इसके बाद शेष बोगियां बगैर इंजन के रेलवे ट्रैक पर दौड़ने लगी। हालांकि, इंजन अभी 100 मीटर आगे बढ़ा था कि चालक को इसकी जानकारी लग गई। चालक ने आपातकाल ब्रेक लगा कर इंजन समेत चार बोगियों को रोका। उसके बाद फिर से सभी बोगियों को जोड़कर ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया।

यह भी पढ़ें: नेताजी सुभाषचन्द्र बोस का जीवन परिचय

इस दौरान करीब 15 मिनट तक ट्रेन रेल फाटक के समीप खड़ी रही। मामले को लेकर यात्रियों ने हंगामा भी किया। बताया जाता है कि बोगियों को कनेक्ट करने के लिए लगाए गए कपलिंग के अचानक टूट जाने के कारण यह हादसा हुआ।

बताया जा रहा है कि रक्सौल-आनंद बिहार सत्याग्रह एक्सप्रेस रक्सौल से निर्धारित समय पर चली थी। गुरुवार सुबह करीब नौ बजे के आसपास महोद्दीपुर के पास पहुंची थी। ट्रेन में सवार यात्री के अनुसार मझौलिया से ट्रेन चली थी, तभी से रूक-रूक कर हिचकोले खा रही थी लेकिन लोको पाइलट ने ध्यान नहीं दिया।

महोद्दीपुर गुमटी पर पहुंचते हीं जोर का झटका लगा और ईंजन समेत चार बोगी लेकर पायलट चला गया। जबकि 18 बोगियां ट्रैक पर यूं ही रेंगने लगी। अगर यह कपलिंग तेज रफ्तार में टूटती तो एक बड़ा हादसा हो सकता था. रेलवे जाँच की बात कर रहा है.

spot_img
- Advertisment -spot_img

ताज़ा ख़बरें