Home हरदोई हरदोई : बेटे व नाबालिग बेटी ने की अपने पिता की हत्या

हरदोई : बेटे व नाबालिग बेटी ने की अपने पिता की हत्या

बिलग्राम। कस्बा के मोहल्ला मलकंठ निवासी गल्ला व किराना व्यवसायी की संपत्ति विवाद में पत्नी, बेटे व नाबालिग बेटी ने गोली मारकर हत्या कर दी।

इसके बाद आरोपी घर में ही शव दफनाने की तैयारी में थे, लेकिन आसपास के लोगों की सक्रियता के चलते वह अपने मंसूबे में सफल नहीं हो सके। पुलिस ने शुक्रवार को दूसरे बेटे की तहरीर पर तीनों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर दोपहर बाद शव का पोस्टमार्टम कराया।
कस्बे के मोहल्ला मलकंठ निवासी गल्ला व किराना व्यवसायी नरेंद्र उर्फ बबलू (48) पत्नी नीलम, बेटे दुर्गेश, दिवाकर व सोलह वर्षीय बेटी समेत एक अन्य छोटी बेटी के साथ रहते थे।

मुहल्ला मलकंठ बजरिया निवासी नरेंद्र गुप्ता उर्फ बबलू शराब के आदी थे। पति-पत्नी के बीच आए दिन विवाद होता रहता था। बड़ा पुत्र दुर्गेश और छोटी बेटी अपनी मां के पक्ष में रहते थे। गुरुवार की रात नरेंद्र का पत्नी नीलम से विवाद हो गया और इसके बाद पुत्र दुर्गेश उर्फ रोहित ने पिता को तमंचे से गोली मार दी। गोली पेट में लगी, सांसे चल रही थी, बावजूद घर में गड्ढा खोदकर उन्हें दफन करने जा रहे थे।

यह भी पढ़ें – अपर मुख्य सचिव के निरीक्षण में जिला अस्पताल की खुली पोल, नहीं चला सका कोई भी वेंटिलेटर

सीओ विशाल यादव, कोतवाल सुनील सिंह पुलिस फोर्स के साथ नरेंद्र को गंभीर हालत में गड्ढे से निकलवाया। अस्पताल में चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। पुलिस ने छोटे पुत्र दिवाकर की तहरीर पर नरेंद्र की पत्नी, बड़े पुत्र और छोटी पुत्री पर एफआइआर दर्ज की है।

यह भी पढ़े – हरदोई में कहाँ होगा 69.50 लाख से स्थापित ऑक्सीजन (O2) प्लांट

हत्या के पीछे संपत्ति को लेकर था विवाद

पुलिस के अनुसार पैतृक संपत्ति को लेकर पति-पत्नी में विवाद चल रहा था। यही वजह थी कि आए दिन झगड़ा होता था। मृतक की पत्नी संपत्ति बेचने के लिए दबाव बनाती थी और नरेंद्र मना किया करता था।

देश की हर नौकरी की खबर आप तक सबसे पहले आपकी अपनी एप्प “रोजगार अलर्ट “पर

डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

- Advertisment -

Most Popular

डीएम अविनाश कुमार, सीडीओ आकांक्षा राना समेत 126 महादानियों ने किया रक्तदान

हरदोई। अमर उजाला फाउंडेशन के तत्वावधान में बुधवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 126 महादानियों ने रक्तदान कर समाज को जनहित में...

क्या है ‘ग्लू ग्रांट’ (Glue Grant) योजना व ‘मेटा विश्‍वविद्यालय’ (Meta University)अवधारण?

चालीस केंद्रीय विश्वविद्यालय अकादमिक क्रेडिट बैंक व यूजी पाठ्यक्रमों में बहु-विषयक (multidisciplinary) को प्रोत्साहित करने के लिए ग्लू ग्रांट (Glue Grant) जैसे...

रोजा-इफ्तार कराने वाले लगा रहे संगम में डुबकी:उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

हरदोई : रसखान प्रेक्षागृह में पांच अरब 96 करोड़ 95 लाख रुपये की 159 कार्यों की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने...

65 बाघों का घर, पीलीभीत टाइगर रिजर्व, Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत बाध अभयारण्य उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में स्थित है और 2014 में इसे टाइगर रिजर्व के रूप में अधिसूचित किया...

Recent Comments

Translate »