Homeहरदोईप्यार में पागल समधी-समधन ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या, जाने पूरा...

प्यार में पागल समधी-समधन ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या, जाने पूरा मामला

spot_img
spot_img

हरदोई: कहते हैं कि प्यार की कोई उम्र नहीं होती और एक और कहावत है कि प्यार अंधा होता है। यह कभी भी किसी को हो सकता है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले से सामने आया है। यहां एक समधी को अपनी समधन से प्यार हो गया। हद तब हो गयी जब समधन भी समधी से प्यार करने लगी।

जहानीखेड़ा में रेलवे ट्रैक पर रविवार की सुबह दो शव पड़े होने की सूचना स्टेशन मास्टर से पुलिस को मेमो द्वारा दी गयी। सूचना मिलने पर जहानीखेड़ा पुलिस चौकी इंचार्ज रामानंद मिश्रा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। शव की पहचान लखीमपुर खीरी जिले के पसिगवां थाना क्षेत्र के सुहौना गांव रहने वाले रामनिवास और मैगलगंज थाना क्षेत्र के मुबारकपुर गांव की रहने वाली आशारानी के रूप में हुई।

बताया जाता है दोनो रिश्ते में समधन-समधी थे। कुछ महीने पहले ही रामनिवास के बेटी की शादी मृतका के बेटे के साथ हुई थी। मिली जानकारी के अनुसार रामनिवास की पत्नी की काफी पहले मौत हो चुकी है, रिश्तेदारी होने के बाद रामनिवास का आना जाना बढ़ गया और दोनों में प्यार हो गया।

प्यार के इस रिश्ते पर घर वालों को थी आपत्ति

समधन समधी दोनों ने चोरी-छिपे मिलना भी शुरू कर दिया था। इसकी जानकारी जब दोनों के परिवार वालों को हुई तो वही हुआ जो हमेशा से होता आया है। दोनों के परिवार ने समधी और समधन के इस नए रिश्ते को मानने से इंकार कर दिया। लोगों ने उनके रिश्ते पर ताने देने शुरू कर दिए। जिसे वह सह नहीं सके और दोनों ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए हरदोई भेजा है। 

22 सितंबर को रामनिवास और आशारानी ने घर छोड़कर भाग निकले। महिला की मैगलगंज कोतवाली में गुमशुदगी भी दर्ज कराई गई थी। रविवार की सुबह दोनो के कटे शव जहानीखेड़ा में रेलवे ट्रैक पर पड़े मिले। बताया जा रहा है कि दोनों ने अपने किये की शर्मिन्दिगी के कारण आत्महत्या कर ली.

आशारानी के एक बेटा और दो बेटियां हैं जबकि रामनिवास की एक बेटी के अलावा कोई और नही था। पुलिस ने दोनों के शव को पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, पुलिस अग्रिम विधिक कार्रवाई में जुटी हुई है।

spot_img
- Advertisment -spot_img

ताज़ा ख़बरें