होमप्रयागराजप्रयागराज: हाईकोर्ट ने कही बड़ी बात, सहमति से बनाए गए संबंध में...

प्रयागराज: हाईकोर्ट ने कही बड़ी बात, सहमति से बनाए गए संबंध में रेप का आरोप सही नहीं

प्रयागराज: एक case में हाईकोर्ट ने बड़ी बात कही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि सहमति से बनाए गए संबंध मेें रेप का आरोप सही नहीं है। कोर्ट ने इस आधार पर गोरखपुर के याची धनंजय गुप्ता को निजी मुचलके और दो प्रतिभूतियों के साथ रिहा करने का आदेश दिया। यह आदेश न्यायमूर्ति अजय भनोट ने याची की जमानत अर्जी को स्वीकार करते हुए दिया है।

याची के खिलाफ गोरखपुर के खजनी थाने में आईपीसी की धारा 343, 504, 506, 376 के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। याची जेल में है। मामले में सत्र न्यायालय ने याची की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया था। याची के अधिवक्ता की ओर से तर्क दिया गया कि मामले में उसे झूठा फंसाया गया है। याची और पीड़िता के बीच सहमति से शारीरिक संबंध थे।

आवेदक ने अपने रिश्ते के दौरान पीड़िता से शादी करने का वादा भी नहीं किया था। पीड़िता ने शादी को मजबूर करने के लिए ही प्राथमिकी दर्ज कराई है। हालांकि, मामले में सरकारी अधिवक्ता ने जमानत अर्जी का विरोध किया लेकिन हाईकोर्ट ने याची के तर्कों को स्वीकार करते हुए जमानत अर्जी मंजूर कर ली।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें