Homeउत्तर प्रदेशतस्करी में फंसा देने का डर दिखाकर महिला से हड़पे 10 लाख

तस्करी में फंसा देने का डर दिखाकर महिला से हड़पे 10 लाख

कानपुर/HDI Bharat। बदलते समय के साथ अब ठग भी शातिर हो रहे हैं। वह लोगों को ठगने के लिए नए नए तरीके निकाल रहें हैं। ऐसा ही एक मामला कानपुर से सामने आया है। यहां की एक महिला को ठगों ने इंग्लैंड से गिफ्ट भेजने की बात कहकर कस्टम ड्यूटी मांगी न देने की बात पर तस्करी में फंसाने का डर दिखाकर दस लाख ऐंठ लिए। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

व्हाटऐप चैनल से जुड़ें Join Now
टेलीग्राम चैनल से जुड़ें Join Now
गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें Follow

तस्करी में फंसा देने का डर दिखाकर दस लाख रुपये हड़पे

कानपुर के ग्वालटोली थाना क्षेत्र निवासी एक महिला को ठगों ने लॉटरी निकलने का झांसा दिया। इंग्लैंड से कारगो से गिफ्ट भेजने के लिए कस्टम ड्यूटी मांगी और मना करने पर तस्करी में फंसा देने का डर दिखाकर दस लाख रुपये हड़प लिए।

पीड़ित ने ग्वालटोली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। नत्थापुरवा कटरी शंकरपुर सरांय निवासी जीतू निषाद के मुताबिक बीते वर्ष जुलाई में उनकी पत्नी जया निषाद के व्हॉट्सएप पर कॉल आई। बात कर रहे युवक ने अपना परिचय इंग्लैंड निवासी अमनप्रीत सिंह बताया।

महिला को जानकारी दी गई कि उसके नंबर ने गिफ्ट में आईफोन, गोल्ड वॉच, कपड़े, जूते और नगद राशि पाउंड में जीती है। जिसे 21 जुलाई 2023 तक रिसीव करना है। अगले दिन एक अन्य नंबर से कॉल आया। बात करने वाले ने अपनी पहचान मुंबई निवासी मुकेश कुमार के रूप में बताई और गिफ्ट मुंबई एयरपोर्ट पर बताया।

डिलीवरी करने के लिए मोबाइल का टैक्स, नगद राशि को पाउंड से रुपया में बदलने और कपड़े, ज्वैलरी आदि को विदेश से लाने में लगने वाले टैक्स के एवज में 3 लाख रुपये की मांग की। इस पर जया ने रुपये भेजने से मना कर दिया।

तस्करी के आरोप में जेल जाना होगा

बताते हैं कि 26 जुलाई को किसी मुकेश नाम के व्यक्ति ने जया को वीडियो भेजा। जिसमें खुद को कस्टम अधिकारियों द्वारा पकड़े जाने की जानकारी दी। आरोपित ने जया को जेल जाने का डर दिखाते हुए धमकाया और कहा कि पार्सल में तुम्हारे नाम का है। टैक्स नहीं दिया तो तस्करी के आरोप में जेल जाना होगा। इतना ही नही मामले को रफा-दफा करने के लिए रुपये की मांग की गई।

आज भी जेल जाने से बचने के लिए रुपये की करते हैं मांग

22 जुलाई 2023 से 19 अगस्त 2023 तक जीतू ने रिश्तेदारों से रुपये उधार लेकर करीब दस लाख रुपये अलग-अलग खातों में भेज दिए। आरोप है कि मुकेश और अमनप्रीत आज भी तस्करी के आरोप में जेल जाने से बचने के लिए रुपये की मांग करते हैं। इस मामले में ग्वालटोली थानाध्यक्ष पवन कुमार ने बताया पुलिस कमिश्नर के आदेश पर आईटी एक्ट की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर की गई है,जांच की जा रही है।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें