Homeउत्तर प्रदेशसमलैंगिक शादी: वाह रे इश्क, 2 लड़कियों ने रचाई एक दूसरे से...

समलैंगिक शादी: वाह रे इश्क, 2 लड़कियों ने रचाई एक दूसरे से शादी

देवरिया। साथ काम करते करते दो लड़कियां को एक दूसरे से इश्क हो गया। इश्क इतना परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी रचा ली। बताते हैं कि दोनों युवतियां पश्चिम बंगाल की रहने वाली हैं,उनकी यह इश्क चर्चा में है। सोमवार को देवरिया में आर्केस्ट्रा में साथ काम करने वाली दो युवतियो ने एक दूसरे से शादी कर ली। दोनों ने अपनी शादी का नोटरी शपथपत्र भी बनवाया है।

आर्केस्ट्रा में काम करती थी दोनों लड़कियां

दोनो का कहना है कि वे साथ ही जीयेंगी और मरेंगी। दो युवतियों की यह शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। बताया जाता है कि देवरिया के लार थाना क्षेत्र एक वार्ड का युवक ग्राम सभा चनुकी में आर्केस्ट्रा चलाता है। आर्केस्ट्रा में काम करने वाली दोनों लड़‍कि‍यां एक-दूसरे के इश्क में इतना करीब आ गईं कि उन्‍हें अलग होकर रहना नामुमकिन सा लगने लगा। दोनों पश्चिम बंगाल के अक्षयनगर रिफ्यूजी कालोनी साउथ 24 परगना की रहने वाली हैं।

वाह रे इश्क: 2 साल से पति पत्नी की तरह रह रही थी

प्राप्त जानकारी के अनुसार वे करीब दो साल से एक दूसरे के साथ पति पत्नी के तरह रह रहीं थी। दोनों ने सोमवार को मझौलीराज में स्थित भगड़ा भवानी माता मंदिर में देवी मां को साक्षी मानकर एक दूसरे के साथ शादी कर ली। इसके बाद उन्होंने मंदिर के पुजारी से आशीर्वाद लिया। दो युवतियों की आपस में हो रही शादी देखने के लिए मंदिर के पास लोगों की भीड़ रही।

शादी करने के बाद बोलीं दोनो युवतियां

दोनों का कहना था कि वे बहुत दिनों से एक दूसरे से विवाह करना चाहती थीं। उन्होंने इसके लिए भाटपाररानी तहसील से बकायदा नोटरी शपथ पत्र भी बनावाया। उसमें स्पष्ट रूप से लिखा कि वे अपनी मर्जी से एक दूसरे शादी कर रही हैं। इसमें किसी को भी कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

कुछ दिन पूर्व शादी करने के लिए दीर्घेश्वरनाथ मंदिर में भी गई थीं। लेकिन वहां पुजारी ने कहा कि डीएम से अनुमति पर यहां शादी होगी। इसके बाद दोनों ने भगड़ा-भवानी माता मंदिर में शादी करने का फैसला किया। युवतियों का कहना है कि उन्हें किसी की परवाह नहीं। अगर किसी को इसमें परेशानी है तो उन्हें जिंदगी के ही बंधन से मुक्त कर दिया जाए। उनकी यह समलैंगिक शादी चर्चा का विषय बनी हुई है।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें

You cannot copy content of this page