Home लखीमपुर खीरी दुधवा टाइगर रिजर्व: दुधवा में अब खुले में घूमते मिलेंगे गैंडे, पर्यटकों...

दुधवा टाइगर रिजर्व: दुधवा में अब खुले में घूमते मिलेंगे गैंडे, पर्यटकों की चांदी

लखीमपुर खीरी। दुधवा टाइगर रिजर्व की गैंडा पुनर्वासन योजना के तहत लगभग 4 दशक से ऊर्जा बाड़ में रह रहे चार गैंडों को जंगल में खुला छोड़े जाने का रास्ता साफ हो गया है। असम से आए गैंडा विशेषज्ञों ने दुधवा आकर गैंडों को आजादी दिए जाने की स्थितियों का जायजा लिया। इससे भविष्य में पड़ने वाले प्रभाव का भी आकलन किया।

कुछ दिन पहले ही गैंडों की आजादी को लेकर दुधवा नेशनल पार्क में एक कार्यशाला हुई थी। इसमें केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के पूर्व सदस्य सचिव और अतिरिक्त वन महानिदेशक (प्रोजेक्ट टाइगर) रिटायर्ड आईएफएस गैंडा विशेषज्ञ बीएस बोनाल, लीड गैंडा संरक्षण कार्यक्रम अमित शर्मा, मुख्य वन संरक्षक एवं फील्ड डायरेक्टर संजय पाठक समेत कई विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

इन विशेषज्ञों ने ऊर्जा बाड़ में रह रहे गैंडों को जंगल में खुला विचरण करने की स्थितियों का आकलन किया। स्थानीय वनाधिकारियों से बातचीत करने के साथ चंदनचौकी में ग्रामीणों से भी गैंडों की आजादी से होने वाले प्रभाव पर व्यापक बातचीत की।

दुधवा टाइगर रिजर्व: जंगल में छोड़ने से पहले चारों गैंडों को लगेंगे रेडियो कॉलर

विशेषज्ञों ने पाया कि दुधवा में गैंडों को खुला विचरण के लिए आजाद किया जा सकता है। दुधवा नेशनल पार्क में मिलने वाली उन वनस्पतियों की प्रचुरता है जो गैंडों का पसंदीदा भोजन है। इसके अलावा यहां पर्याप्त मात्रा में वेटलैंड भी हैं, जो गैंडों को प्राकृतवास देने में सक्षम हैं।

दुधवा का वन क्षेत्र काफी विस्तृत है, जिसमें गैंडे आसानी से विचरण कर सकते हैं। बावजूद इसके छोड़े गए गैंडों की विधिवत निगरानी किए जाने की जरूरत होगी। इसके लिए छोड़े जाने वाले गैंडों को रेडियो कॉलर लगाने का निर्णय लिया गया है। पहले चरण में चार गैंडों को आजाद करने की योजना तैयार की गई है। इसके बाद चरणबद्घ तरीके से अन्य गैंडों को भी जंगल में आजाद किया जाएगा।

दुधवा टाइगर रिजर्व में चल रही गैंडा पुनर्वासन योजना में 46 गैंडों में से चार गैंडों को ऊर्जा चालित बाड़ से मुक्त कर जंगल में स्वच्छंद विचरण के लिए छोड़े जाने की योजना तैयार की गई है। मौजूदा स्थितियों और भविष्य में इसके प्रभाव का अध्ययन किया गया है। स्थितियां अनुकूल हैं। कुछ ही महीनों में चारों गैंडों को रडियो कॉलर लगाकर आजाद करने की प्रक्रिया शुरू होगी। – डॉ. रंगाराजू टी, उपनिदेशक, दुधवा टाइगर रिजर्व

- Advertisement -

लेटेस्ट

21 हजार का चेक, टैबलेट और प्रशस्ति पत्र पाकर मेधावी छात्र/छात्रायें हुए गदगद

हरदोई: "परीक्षा पे चर्चा" कार्यक्रम को आज सम्पूर्ण जनपद के माध्यमिक विद्यालयों मे देखा गया। जिसमे प्रधानमंत्री ने छात्र/छात्राओं को परीक्षा से...

मंत्री नितिन अग्रवाल ने 74वें गणतंत्र दिवस पर किया ध्वजा रोहण, कहा देश ने सभी क्षेत्रों में कीर्तिमान स्थापित किया

हरदोई: 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर पुलिस लाइन में आयोजित भव्य कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य मंत्री आबकारी...

Hardoi News: बड़ी धूमधाम से मनाया गया 74वां गणतंत्र दिवस, 26 विभागों ने निकाली झांकी

हरदोई: आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी ने अपने कार्यालय सहित जनपद के सभी कार्यालयों,...

Hardoi: 2 साल में भी पूरा न हो सका रेलवे ओवरब्रिज, काम की धीमी गति पर नाराज हुए डीएम

हरदोई: जनपद में शाहाबाद आंझी रेलवे क्रासिंग पर पिछले दो सालों से बन रहे रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण अभी तक पूरा नहीं...