Friday, August 19, 2022
Advertisment
Home उत्तर प्रदेश अखिलेश यादव ने कहा- शिवपाल-राजभर को जहां ज्यादा सम्मान मिले, वह वहां...

अखिलेश यादव ने कहा- शिवपाल-राजभर को जहां ज्यादा सम्मान मिले, वह वहां जाने के लिए आजाद

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पत्र जारी कर चाचा शिवपाल सिंह यादव व सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को दो टूक संदेश देते हुए कहा कि आपको जहां ज्यादा सम्मान मिलता है। आप वहां जाने के लिए स्वतंत्र हैं। सपा की तरफ से यह संदेश पत्र जारी कर दिया गया है।

शिवपाल सिंह यादव के लिए जारी पत्र में कहा गया है कि शिवपाल सिंह यादव जी, अगर आपको लगता है कि कहीं ज्यादा सम्मान मिलेगा तो आप वहां जाने के लिए स्वतंत्र हैं।

शिवपाल ने दिया जवाब, बोले- हमेशा ही स्वतंत्र रहा

सपा की तरफ से पत्र जारी होने पर शिवपाल यादव ने जवाब दिया है कि वह हमेशा ही स्वतंत्र रहे हैं लेकिन समाजवादी पार्टी के पत्र ने औपचारिक रूप से स्वतंत्र कर दिया है। इसके लिए उनका आभार। शिवपाल ने कहा कि राजनीतिक यात्रा में सिद्धांत एवं सम्मान से समझौता अस्वीकार्य है। उन्होंने कहा कि वह जनता के बीच में रहते हैं और जनता के लिए निरंतर कार्य करेंगे। अगले कदम के बारे में कहा कि जल्द ही इसकी घोषणा करेंगे।

वहीं, राजभर के लिए जारी किए गए पत्र में संदेश दिया गया है कि ओमप्रकाश राजभर जी, सपा लगातार भाजपा के खिलाफ लड़ रही है। आपका भाजपा के साथ गठजोड़ है और आप लगातार भाजपा को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं। अगर आपको लगता है कि कहीं ज्यादा सम्मान मिलेगा तो आप वहां जाने के लिए स्वतंत्र हैं। पत्र जारी होने के बाद माना जा रहा है कि सपा ने राजभर की पार्टी सुभासपा से गठबंधन तोड़ने का औपचारिक एलान कर दिया है।

पत्र जारी होने के बाद राजभर ने कहा कि मैं उनको सुझाव देता रहा लेकिन उनको मेरी यही बात बुरी लगी। उनको सुर में सुर मिलाकर बात करने वाला नेता चाहिए। मैं आज भी कह रहा हूं कि वो पाल, प्रजापति और कश्यप किसी को भी पार्टी में जगह देना नहीं देना चाहते। अगर मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलूं तो बुरा है लेकिन वो या उनके पिता मुलायम सिंह मिलें तो अच्छा है।मैं जिससे चाहता हूं उससे मिलता हूं। मेरे संबंधों पर कोई उंगली नहीं उठा सकता। अगर कोई सोचे कि मैं वही करूं जो वो कहे तो ये नहीं हो सकता। मैं किसी का गुलाम नहीं हूं

राजभर ने कहा कि अखिलेश यादव के तलाक को मैं स्वीकार करता हूं। इस तलाक के पीछे मौलाना संदीप भदौरिया, अरविंद सिंह और नरेश उत्तम पटेल समेत अखिलेश के नौ रत्न हैं। ये वही लोग हैं जो अपना बूथ तक नहीं जिता सकते। समाजवादी पार्टी किसी के साथ ज्यादा दिन नहीं रहती। ये न कांग्रेस के साथ ही टिक सके और न ही बसपा के साथ।

Advertisment 2

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Most Popular

Sitapur News: सैकड़ों पीपा मिलावटी सरसों का तेल बरामद, 4 गिरफ्तार

Sitapur: कोतवाली लहरपुर पुलिस और स्वाट टीम ने एक गोदाम पर छापेमारी करते हुए भारी मात्रा में सरसों का मिलावटी तेल बरामद...

CBI Raid: मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई का छापा, कहा- कट्टर ईमानदार हूँ, जांच में करूंगा पूरा सहयोग

आबकारी नीति (Excise Policy) मामले में CBI ने दिल्ली-एनसीआर में 21 जगहों पर छापेमारी की, जिसमें दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का...

Hardoi News: नौकरी दिलाने के नाम पर ठगे लाखों रुपये, कोचिंग प्रबंधक पर लगा आरोप

हरदोई: शहर कोतवाली क्षेत्र के एक कोचिंग प्रबंधक पर अग्निवीर योजना के तहत व अन्य विभागों में नौकरी दिलाने के नाम पर...

दुष्कर्म के दो अलग अलग मामलों में दोषियों को 10-10 वर्ष की सजा

हरदोई। एएसजे पॉक्सो के जज अबुल कैश ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने में आरोपी को दोषी कराके देते हुए 10 वर्ष...