Home उत्तर प्रदेश गोरखपुर: स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी का प्रदेश का पहला मामला पकड़ा

गोरखपुर: स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी का प्रदेश का पहला मामला पकड़ा

गोरखपुर:मीटर से भी स्मार्ट बिजली चोरों ने विद्युत निगम को 45 लाख से अधिक का चूना लगा दिया है। स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी का यह प्रदेश का पहला मामला है। चोरी शहरी क्षेत्र के बक्शीपुर क्षेत्र में दो भाइयों की आईसक्रीम फैक्ट्री में पकड़ी गई है। अभियंताओं के मुताबिक कितने राजस्व की बिजली चोरी हुई है यह अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं है पर ये 45 लाख से ज्यादा की ही है। चोरी को समझने में विजिलेंस और बिजली निगम की टीम को तीन दिन लग गए।

जानकारी के मुताबिक उपखंड अधिकारी बक्शीपुर विवेक सिंह को सूचना मिली थी कि भरवापुर नाला, निजामपुर क्षेत्र में एक आईसक्रीम फैक्ट्री में बिजली चोरी की जा रही है। सूचना पर उन्होंने विजिलेंस की मदद से चेकिंग अभियान चलाया। प्रभारी दिलीप मिश्रा ने बताया कि सूचना पर टीम इमरान खान के फैक्ट्री परिसर में जांच को पहुंची। देखने से यह फैक्ट्री लग ही नहीं रही थी।

उन्होंने बताया कि परिसर पर इमरान और अहमद खान के नाम से दो बिजली कनेक्शन थे। दोनों पर स्मार्ट मीटर लगे हुए थे। जांच के दौरान दोनों स्मार्ट मीटर की रीडिंग शून्य मिली। इस संबंध में निगम के उपखंड में सूचना भी नहीं दी गई थी। स्मार्ट मीटर की रीडिंग शून्य होने पर विजिलेंस टीम और अधिकारियों को होश उड़ गए।

इसी बीच उसी परिसर के सामने स्थित दूसरी फैक्ट्री के कर्मचारी निकल कर जाने लगे। टीम उस परिसर में पहुंची तो पता चला कि ये परिसर भी इन दोनों भाइयों की आईसक्रीम फैक्ट्री का ही हिस्सा है। उस परिसर में भी कनेक्शन पर दो स्मार्ट मीटर लगे थे। इनमें भी छेड़छाड़ कर रीडिंग शून्य कर दी गई थी, जबकि मौके पर बिजली की खपत होती मिली।

दिलीप सिंह ने बताया कि स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी का यह मामला प्रदेश में पहला है। टीम ने दोनों फैक्ट्री के मीटरों को कब्जे में लेकर उसे सील कर दिया। एंटी थेफ्ट थानाध्यक्ष संजय सिंह ने बताया कि जबसे स्मार्ट मीटर लगा है, पहली बार इससे बिजली चोरी का मामला सामने आया है। अभी तक स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी का मामला सामने नहीं आया था। विजिलेंस टीम की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ऐसे कर रहे थे बिजली चोरी

जांच टीम के एक अधिकारी ने बताया कि एलटी लाइन के फेज से बिजली आपूर्ति मीटर तक जाती है, इसे इनकमिंग कहते हैं। इसके बाद मीटर से घर के अंदर की वायरिंग तक जाने वाली आपूर्ति को आउटगोइंग बिजली धारा कहते हैं। इसी आउटगोइंग से निकलने वाले दोनों फेज की लाइन में एक फेज की लाइन मीटर और घर की आपूर्ति से काट दी गई थी। इसी केबल में टेप लगाकर तार को मीटर के अंदर बंद कर बिजली चोरी की जा रही थी।

Most Popular

Hardoi News: विकास कार्यों का राज्यमंत्री रजनी तिवारी ने किया लोकार्पण

विपुल मिश्रापिहानी/हरदोई: उच्चशिक्षा राज्य मंत्री रजनी तिवारी ने ब्लाक कार्यालय पर क्षेत्र पंचायत द्वारा कराए गए विकास कार्यों का लोकार्पण किया। कार्यक्रम...

Hardoi News: शादी का झांसा देकर छात्रा का शारीरिक शोषण करने का आरोप,रिपोर्ट दर्ज

कछौना/हरदोई: कोतवाली क्षेत्र के एक युवक पर छात्रा ने शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया। पीड़िता की तहरीर...

WhatsApp : व्हाट्सएप ने 2.38 करोड़ खातों पर लगाई रोक

50 करोड़ से ज्यादा भारतीय व्हाट्सएप इस्तेमाल करते हैं। 2011 की जनगणना के लिहाज से देखें तो 108 करोड़ की वयस्क आबादी...

निरीक्षक, उपनिरीक्षक सहित 7 का तबादला, रंन्धा सिंह थानाध्यक्ष बेहटा गोकुल तो ओम प्रकाश सिंह बने थानाध्यक्ष सुरसा

हरदोई: एसपी ने तीन निरीक्षक व चार उपनिरीक्षकों का तबादला किया है। कानून व्यवस्था अधिक सुदृढ़ बनाए रखने को लेकर एसपी ने निरीक्षक,...
close