Home हरदोई Hardoi News: लोगों ने नहीं लौटाए रुपये, तो व्यापारी ने फंदा लगाकर...

Hardoi News: लोगों ने नहीं लौटाए रुपये, तो व्यापारी ने फंदा लगाकर दी जान

हरदोई: नवीन गल्लामंडी स्थित दुकान में गल्ला व्यापारी ने फंदा लगाकर जान दे दी। दुकान का शटर खोलने पर परिजनों ने शव लटका देखा। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस को मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन पांच लोगों के नाम लिखे हैं, जिनसे व्यापारी के 17.95 लाख रुपये लेने थे।

सुसाइड नोट के मुताबिक व्यापारी को अपने रुपये वापस नहीं मिल रहे थे और वे लोग दबाव बना रहे थे जिन्हें व्यापारी को रुपये देने थे। इस दबाव में आत्महत्या करने का उल्लेख भी सुसाइड नोट में है।

यह भी पढ़ें : लखीमपुर के गोला से 5 बार विधायक रहे अरविंद गिरि का हार्ट अटैक से निधन

जानकारी के मुताविक सोमवार सुबह मंडी के लिए निकले थे लेकिन देर रात तक घर न पहुंचने पर परिजनों को चिंता हुई। उन्होंने व्यापारी के फोन पर कॉल की, तो वह रिसीव नहीं हुई। परिजन तलाश करते मंडी पहुंचे तो दुकान का शटर अंदर से बंद था। शटर तोड़ने पर शव फंदे पर लटका देख परिजनों के होश उड़ गए।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा, तलाशी लेने पर जेब में सुसाइड नोट मिला। सुसाइड में एक पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर 10 लाख रुपये के अलावा पांच अन्य लोगों को मिलाकर 17.95 लाख रुपये उधारी होने का जिक्र है। सुसाइड नोट में कहा गया है कि उसने भी कुछ लोगों से ब्याज पर रुपये लिए थे, वह लोग अपना रुपया मांग रहे हैं।

कोतवाल संजय पांडेय ने बताया कि व्यापारी ने आत्महत्या की है। उसके पास से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें कुछ लोगों पर रुपये बकाया होने की बात लिखी है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

सुसाइड नोट में क्या लिखा

जान देने से पहले व्यापारी ने सुसाइड नोट में लिखा कि प्रशासन महोदय, इन लोगों ने हमें बहुत परेशान किया और आश्वासन देते रहे, लेकिन रुपया नहीं दिया। प्रशासन महोदय से निवेदन है कि यह रुपये हमारी बीबी व बच्चों को दिलवा दे, परेशानी में हम अपनी जान दे रहेे आगे…उन लोगों के नाम व बकाया रुपयों का विवरण और फिर लिखा हम पर भी कई लोगों का रुपया था, लोगों का ब्याज भी देता था, लोगों ने अपना रुपया सख्ती से मांगना शुरू कर दिया, यह हमसे सहन नहीं हुआ….।

हमारी दोनों बेटियों की पढ़ाई व शादी में मदद कर देना

सुसाइड नोट में अंडर लाइन के नीचे लिखा कि मैं अपने परिवार को बहुत चाहता था… दीपक भइया व भाभी आपसे हाथ जोड़ के निवेदन है कि अपनी बहन व मेरी दोनों बेटियों को साथ रखना राकेश, राजू हाथ जोड़ निवेदन है कि हमारी दोनों बेटियों की पढ़ाई व शादी में मदद कर देना, प्रमोद भइया व परम भइया हमारे परिवार को देखें आदि का उल्लेख करने के बाद नीचे अपना नाम लिख दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से 27 लोगो की मौत, कई गंभीर रूप से घायल, प्रधानमंत्री मोदी ने जताया दुःख

कानपुर: घाटमपुर क्षेत्र में बड़ा हादसा हो गया है। भीतरगांव के भदेउना गांव के पास श्रद्धालुओं से भरा ट्रैक्टर-ट्राली अनियंत्रित होकर पलट...

जाको राखे साइयां, मार सके न कोय: 5 मंजिल से गिरा अरमान और उसे कुछ नहीं हुआ

हरदोई: एक कहावत है, जाको राखे साइयां, मार सके न कोय। आज हरदोई जिले में ये कहावत चरितार्थ होती दिखी है। हरदोई...

स्वच्छ भारत अभियान 2.0 का शुभारंभ कलेक्ट्रेट परिसर में किया गयाः-जिलाधिकारी

हरदोई: नेहरू युवा केंद्र के तत्वावधान में स्वच्छ भारत अभियान 2.0 का शुभारंभ कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी एम.पी. सिंह द्वारा किया गया।...

हरदोई: दो घण्टे चले ऑपरेशन से बच्चेदानी एवं 6 इंच बड़े ट्यूमर को निकाला

हरदोई: हरदोई मेडिकल कालेज के डाक्टरों की टीम ने लगभग दो घण्टे चले जटिल ऑपरेशन करके एक महिला की बच्चेदानी एवं ट्यूमर...