Home हरदोई Hardoi News: लोगों ने नहीं लौटाए रुपये, तो व्यापारी ने फंदा लगाकर...

Hardoi News: लोगों ने नहीं लौटाए रुपये, तो व्यापारी ने फंदा लगाकर दी जान

हरदोई: नवीन गल्लामंडी स्थित दुकान में गल्ला व्यापारी ने फंदा लगाकर जान दे दी। दुकान का शटर खोलने पर परिजनों ने शव लटका देखा। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस को मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन पांच लोगों के नाम लिखे हैं, जिनसे व्यापारी के 17.95 लाख रुपये लेने थे।

सुसाइड नोट के मुताबिक व्यापारी को अपने रुपये वापस नहीं मिल रहे थे और वे लोग दबाव बना रहे थे जिन्हें व्यापारी को रुपये देने थे। इस दबाव में आत्महत्या करने का उल्लेख भी सुसाइड नोट में है।

यह भी पढ़ें : लखीमपुर के गोला से 5 बार विधायक रहे अरविंद गिरि का हार्ट अटैक से निधन

जानकारी के मुताविक सोमवार सुबह मंडी के लिए निकले थे लेकिन देर रात तक घर न पहुंचने पर परिजनों को चिंता हुई। उन्होंने व्यापारी के फोन पर कॉल की, तो वह रिसीव नहीं हुई। परिजन तलाश करते मंडी पहुंचे तो दुकान का शटर अंदर से बंद था। शटर तोड़ने पर शव फंदे पर लटका देख परिजनों के होश उड़ गए।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा, तलाशी लेने पर जेब में सुसाइड नोट मिला। सुसाइड में एक पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर 10 लाख रुपये के अलावा पांच अन्य लोगों को मिलाकर 17.95 लाख रुपये उधारी होने का जिक्र है। सुसाइड नोट में कहा गया है कि उसने भी कुछ लोगों से ब्याज पर रुपये लिए थे, वह लोग अपना रुपया मांग रहे हैं।

कोतवाल संजय पांडेय ने बताया कि व्यापारी ने आत्महत्या की है। उसके पास से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें कुछ लोगों पर रुपये बकाया होने की बात लिखी है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

सुसाइड नोट में क्या लिखा

जान देने से पहले व्यापारी ने सुसाइड नोट में लिखा कि प्रशासन महोदय, इन लोगों ने हमें बहुत परेशान किया और आश्वासन देते रहे, लेकिन रुपया नहीं दिया। प्रशासन महोदय से निवेदन है कि यह रुपये हमारी बीबी व बच्चों को दिलवा दे, परेशानी में हम अपनी जान दे रहेे आगे…उन लोगों के नाम व बकाया रुपयों का विवरण और फिर लिखा हम पर भी कई लोगों का रुपया था, लोगों का ब्याज भी देता था, लोगों ने अपना रुपया सख्ती से मांगना शुरू कर दिया, यह हमसे सहन नहीं हुआ….।

हमारी दोनों बेटियों की पढ़ाई व शादी में मदद कर देना

सुसाइड नोट में अंडर लाइन के नीचे लिखा कि मैं अपने परिवार को बहुत चाहता था… दीपक भइया व भाभी आपसे हाथ जोड़ के निवेदन है कि अपनी बहन व मेरी दोनों बेटियों को साथ रखना राकेश, राजू हाथ जोड़ निवेदन है कि हमारी दोनों बेटियों की पढ़ाई व शादी में मदद कर देना, प्रमोद भइया व परम भइया हमारे परिवार को देखें आदि का उल्लेख करने के बाद नीचे अपना नाम लिख दिया।

- Advertisement -

लेटेस्ट

Hardoi: मंत्री नितिन अग्रवाल ने अखिलेश यादव पर बोला हमला कहा – जनादेश का कर रहे हैं अपमान

हरदोई: अपने गृह जनपद आये आबकारी मंत्री नितिन अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य...

Amazon Sale में बंपर ऑफर, स्मार्टफोन्स पर 40% तक है डिस्काउंट

अगर आप नया स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं, तो Amazon पर चल रही सेल का लाभ उठा सकते हैं. 4 फरवरी...

बुलेट (Bullet 350) सिर्फ 18700 रुपये की, चौंक गए लेकिन यह सच है!

Royal Enfield Bullet 350: सोशल मीडिया पर एक बुलेट (Bullet 350) का बिल वायरल हुआ है, जिसे देखकर कोई भी हैरान हो...

Hardoi: वर्दी में शराब पीना दरोगा जी को पड़ा भारी, एसपी राजेश द्विवेदी ने किया निलंबित

हरदोई: वर्दी में शराब पीना एक इंस्पेक्टर साहब को महंगा पड़ गया. वर्दी में शराब पीने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो...