Home हरदोई साण्डी पक्षी बिहार: सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार इकोसेंट्रिक जोन के...

साण्डी पक्षी बिहार: सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार इकोसेंट्रिक जोन के अंदर कोई निर्माण नही किया जायेगा:- डी0एम0

हरदोई: आज कलेक्ट्रेट सभागार में साण्डी पक्षी बिहार के मास्टर जोन प्लान के सम्बन्ध में एक बैठक का आयोजन किया गया। डीएम MP सिंह ने डीएफओ को निर्देश दिए कि साण्डी पक्षी बिहार झील में जल स्तर अच्छा रहे इसके लिए कार्य योजना बनाये लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार इकोसेंट्रिक जोन के अंदर कोई निर्माण नही किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने डीएफओ से कहा कि इसके लिए अंतर्विभागीय समन्वय से कार्य को समय से सुनिश्चित करने हेतु साण्डी पक्षी बिहार झील का ड्रोन सर्वेे के अतिरिक्त चार जोन गठित कर फिजिकल सर्वे कराये तथा प्रत्येक टीम के लिए एक नोडल अधिकारी व तीन सहायक नामित करें।

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी एपी सिंह, अधिशासी अभियंता शारदा नहर अखिलेश गौतम, जिला कृषि अधिकारी उमेश शाहू, जिला उद्यान अधिकारी सुरेश कुमार, जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार सहित पर्यावरण आदि विभाग के अधिकारी उपस्थित रहें।

मच्छरों के अधिक संकेन्द्रण वाले स्थानों पर साफ-सफाई तथा फॉगिंग की जाएः- जिलाधिकारी

हरदोई: कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी एमपी सिंह की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान की अंतर्विभागीय बैठक हुई। जिलाधिकारी ने अभियान में पूर्व में हुए आयोजनों की जानकारी ली।

यह भी पढ़े: निरीक्षण के दौरान गन्दगी देख बिफरे डीएम MP सिंह, कहा गंदगी करने वालों पर लगायें जुर्माना

डीएम MP सिंह ने कहा कि 1 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान में सभी विभागों को जिम्मेदारी दी गयी है उसका कुशलता पूर्वक निर्वहन किया जाए। मच्छरों के अधिक संकेन्द्रण वाले स्थानों पर साफ-सफाई कराई जाए तथा फॉगिंग की जाए।

अंतर्विभागीय बैठक करते हुए डीएम MP सिंह

उन्होंने ने कहा नगर विकास विभाग जनप्रतिनिधियों के माध्यम से संवेदीकरण का कार्य करे। जल भराव न होने दिया जाए। पंचायती राज विभाग अपने क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करे। शिक्षा विभाग बच्चों को साफ-सफाई को लेकर जागरूक करे। कृषि विभाग चूहों पर नियंत्रण के लिए प्रभावी उपाय करें। उद्यान विभाग मच्छर विकर्षी पौधों को प्रोत्साहित करें।

7 से लेकर 21 अक्टूबर तक चलने वाले दस्तक अभियान के दौरान आशा व आंगनबाड़ी समन्वय से काम कर प्रभावित लोगों की सूची तैयार करें। शिक्षण संस्थानों में जागरूकता से सम्बंधित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाए। इसके अतिरिक्त उन्होंने आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य की समीक्षा करते हुए कार्य मे तेजी लाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कोविड की प्रिकॉशन डोज के संबंध में जानकारी ली। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा राना, मुख्य चिकित्सा अधिकारी राजेश तिवारी, अपर जिलाधिकारी वंदना त्रिवेदी, जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार व समस्त प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Auraiya: शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत के बाद बवाल, चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात, आज हुआ अंतिम संस्कार

औरैया: एक शिक्षक की पिटाई से छात्र की मौत के मामले में जिले में तनाव बना हुआ है। सोमवार रात हुए उपद्रव...

Taj Mahal: सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश, कहा ताजमहल के 500 मीटर के दायरे में व्यावसायिक गतिविधियां तुरंत रोकें

आगरा: सुप्रीम कोर्ट ने एक बहुत ही अहम आदेश दिया है कहा है ताजमहल के 500 मीटर के दायरे में सभी व्यावसायिक...

 UP News: डीजीपी ने 31 अक्तूबर तक पुलिसकर्मियों की छुट्टियों पर लगाई रोक, यह है वजह!

उत्तर प्रदेश: भारत में त्योहारों का सीजन शुरू हो चूका है. आने वाले कुछ दिनों में दुर्गा पूजा, दशहरा, दीवाली और छठ...

हरदोई: आप लोग उसे छोड़ना मत प्लीज, हम उसके बिना जी नहीं सकते मर तो सकते है और सुसाइड नोट छोड़ झूल गई फंदे...

पिहानी/हरदोई: पिहानी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में प्रेमी धोखा ने देने आहत युवती ने कमरे में फंदा लगाकर फांसी लगाकर जान...