होमउत्तर प्रदेशउमेश पाल हत्याकांड में शामिल अतीक अहमद का बेटा 48वें दिन एनकाउंटर...

उमेश पाल हत्याकांड में शामिल अतीक अहमद का बेटा 48वें दिन एनकाउंटर में ढेर

उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (यूपी एसटीएफ) ने उमेश पाल हत्याकांड के शामिल माफिया अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर गुलाम अहमद को 48वें दिन एनकाउंटर में ढेर कर दिया है।

उमेश पाल की हत्या में शामिल अतीक अहमद के तीसरे नम्बर के बेटे असद और शूटर गुलाम को आज पुलिस ने मार गिराया। मामले के सिलसिले में वांछित पांच शूटर अभी भी फरार थे और उनमें से एक अरबाज हत्या के चार दिन बाद एक मुठभेड़ में मारा गया था। छह मार्च को एक मुठभेड़ में विजय उर्फ ​​उस्मान को भी मार गिराया गया था।

24 फरवरी 2023 को उमेश पाल की दिन दहाड़े गोलियों से भून दिया गया था। सीसीटीवी फुटेज में अतीक अहमद के बेटे असद समेत छह लोग गोलियां और बम चलाते नजर आए थे। अगले दिन उमेश की पत्नी जया ने अतीक, अशरफ, शाइस्ता, अतीक के बेटे असद, गुड्डू मुस्लिम, उस्मान समेत कई अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई.

पुलिस ने इससे पहले हुए एक एनकाउंटर में उस्मान चौधरी को मार गिराया था। असद अहमद, गुलाम, गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अरमान में से प्रत्येक पर पांच-पांच लाख का इनाम घोषित किया गया था। एसटीएफ के अधिकारियों के अनुसार, बृहस्पतिवार दोपहर झांसी में असद और गुलाम के होने की सूचना पर टीम ने घेराबंदी की।

बताया गया दोनों ने फायरिंग की। जवाबी फायरिंग में दोनों ढेर हो गए। उनके पास से विदेशी पिस्टल मिली है। असद अहमद पर एक मुकदम था और पांच लाख का इनाम था। गुलाम पर छह मुकदमे थे और पांच लाख का इनाम था। 

माफिया अतीक अहमद के तीसरे नंबर का बेटा था असद

आपको बता दें झांसी में पुलिस एनकाउंटर में मारा गया असद अतीक अहमद के तीसरे नंबर का बेटा था। बड़ा बेटा उमर लखनऊ जेल में बंद है। दूसरे नंबर का अली नैनी जेल में है। चौथे और पांचवे नंबर के नाबालिग बेटे बाल सुधार गृह राजरूपपुर में हैं।

असद ने ब्रिटिश बुलडॉग रिवाल्वर से झोंका था पुलिस टीम पर फायर

एसटीएफ ने असद के पास से एक ब्रिटिश बुलडॉग रिवॉल्वर बरामद की है, जो बेहद उन्नत विदेशी पिस्टल है. यह एक शॉट में 12 राउंड फायर कर सकती है। असद ने इसी पिस्टल से एसटीएफ पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। जिसके जवाबी कार्रवाई में असद मारा गया।

गुलाम के पास वाल्थर पी88 पिस्टल थी, जो बेहद उन्नत स्वचालित हथियार है। मकसूद ने भी 12 राउंड फायरिंग की। एसटीएफ की टीम में दो कमांडो भी मौजूद थे। उनके पास स्वचालित हथियार थे। कमांडो ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसमें गुलाम और असद दोनों मारे गए। गोली लगने के तुरंत बाद पुलिस पहुंची और शवों को मेडिकल कॉलेज ले गई।

यह यूपी पुलिस और STF के लिए ज़रूरी केस था- अमिताभ

अतीक अहमद के बेटे असद अहमद के एनकाउंटर पर यूपी STF के ADG अमिताभ यश ने कहा कि यह यूपी पुलिस और STF के लिए ज़रूरी केस था क्योंकि एक केस में एक मुख्य गवाह जिसे यूपी पुलिस ने सुरक्षा प्रदान की थी उसकी हत्या कर दी गई थी। इस केस में आज दो शूटर को एनकाउंटर में मारा गया। इनके पास से परिष्कृत विदेशी हथियार मिले। 

आज दिल को सुकून मिला है- जया पाल

उमेश पाल की पत्नी जया ने कहा कि इंसाफ की शुरुआत हो गई है। जो हुआ अच्छा हुआ। उन्होंने कहा कि आज दिल को सुकून मिला है। अतीक अहमद का भी हो एनकाउंटर तब असली न्याय मिलेगा।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें