Home हरदोई Hardoi: मानवीय संवेदनाओं पर हो रहे कुठाराघात से प्रशासनिक अधिकारी भी अछूते...

Hardoi: मानवीय संवेदनाओं पर हो रहे कुठाराघात से प्रशासनिक अधिकारी भी अछूते नहीं हैं: पूर्व गृह सचिव

हरदोई: प्रतिबिंब सांस्कृतिक एवं सामाजिक अकादमी के तत्वावधान में रविवार को पुष्पगिरि सभागार में पुण्यात्मा गिरीश चंद्र वाजपेयी स्मृति व्याख्यानमाला में उत्तर प्रदेश शासन के पूर्व गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र ने ‘प्रशासन और मानवीय संवेदनाएं’ विषय पर अपना सारगर्भित एवं अनुभवपरक व्याख्यान दिया.

अपनी बात कहते हुए पूर्व गृह सचिव श्री मिश्र ने आज के उपभोक्तावादी युग और जीवन पद्दतियों के कारण मानवीय संवेदनाओं की उपेक्षा के प्रति चिंता जताते हुए कहा कि पूरे समाज में मर्यादाओं का क्षरण हो रहा है जिसके कारण मानवीय संवेदनाओं पर भी कुठाराघात हुआ है. प्रशासनिक अधिकारी भी इससे अछूते नहीं हैं.

पूर्व गृह सचिव श्री मिश्र ने कहा कि मनुष्य जन्म होने के बाद उसका संवेदनशील होना मानवीयता का एक आवश्यक पहलू है. समाज और लोकहित में अपने कर्तव्यों का पालन मानवीय संवेदनाओं का पूरक होता है. मन को सकारात्मक दिशा में प्रशिक्षण और अध्ययन मानवीय संवेदनाओं को आगे बढ़ता है. राग द्वेष से परे रहना ही संवेदनशीलता का पर्याय है.

प्रशासनिक अधिकारी फरियादियों की बात सुने, संवाद करें और संवेदनशील बनकर समाधान करें:पूर्व गृह सचिव

पूर्व गृह सचिव ने प्रशासनिक अधिकारियों को सलाह दी कि वे फरियादियों की बात सुने, संवाद करें और फिर मनन करते हुए संवेदनशील बनकर समाधान करें.पूर्व गृह सचिव ने मनोविज्ञान के 14 सूत्रों को बताते हुए अपने प्रशासन काल के अनुभवों का विश्लेषण किया. इन सूत्रों को उन्होंने रामचरितमानस और श्रीमद्भगवद्गीता से जोड़ कर समझाया.

कार्यक्रम का आरम्भ मुख्य अतिथि तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा पुण्यात्मा गिरीश चन्द्र वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि से हुआ. आलोक टंडन ने स्वर्गीय वाजपेयी के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला वहीं अतुल कपूर ने मुख्य वक्ता मणि प्रसाद मिश्र का परिचय दिया. माल्यार्पण के पश्चात प्रतिबिम्ब के अध्यक्ष अरुणेश वाजपेयी ने मुख्य अतिथि को अंगवस्त्र तथा स्मृतिचिन्ह प्रदान किया.

कार्यक्रम का सञ्चालन महासचिव अनिल श्रीवास्तव और आभार मनीष श्रीवास्तव द्वारा किया गया. मुख्यवक्ता के व्याख्यान के पश्चात डॉ. बी.डी. शुक्ला, सुशील वर्मा, डॉ. एस. के. सिंह, डॉ. कुलवीर सिंह, राकेश पाण्डेय, मनीष मिश्र तथा आकृति श्रीवास्तव की जिज्ञासाओं का समाधान किया.

ऐश्वर्य को दी गई प्रतीक वाजपेयी स्मृति छात्रवृत्ति

प्रत्येक वर्ष की भातिं दी जाने वाली प्रतीक वाजपेयी स्मृति छात्रवृत्ति इस वर्ष ऐश्वर्य अवस्थी को प्रदान की गयी. इसके अंतर्गत दस हजार रुपये का ड्राफ्ट एवं प्रमाणपत्र मुख्य अतिथि पूर्व गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र द्वारा ऐश्वर्य को प्रदान किया गया. ऐश्वर्य इलाहाबाद विश्वविद्यालय से भौतिक विज्ञान में शोध कर रहे हैं.

- Advertisement -

लेटेस्ट

UP News: अहमद मुर्तजा को फांसी की सजा, गोरखनाथ मंदिर में घुसकर सुरक्षाबलों पर किया था हमला

गोरखनाथ मंदिर में हमला करने वाले अहमद मुर्तजा को फांसी की सजा सुनाई गई है। गोरखनाथ मंदिर में घुसकर सुरक्षाकर्मियों पर आतंकी...

हनुमानगढ़ी के महंत राजूदास का एलान, स्वामी प्रसाद मौर्य का सिर तन से जुदा करने वाले को 21 लाख का देंगे इनाम

रामचरित मानस को लेकर सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, अब उसी रास्ते पर चलते हुए हनुमानगढ़ी के...

अजब गजब ‘इश्क’: भांजे पर आया 60 साल की मामी का दिल, बेटे और बहुएं भी दे रहे माँ का साथ

कहते हैं इश्क की कोई उम्र नहीं होती यह कभी भी किसी से हो जाता है। इसी तरह के इश्क का अजब...

हरदोई: बैंक कैशियर की पत्नी से दिनदहाड़े हुई चैन स्नैचिंग, बाइकर्स गैंग का कारनामा

हरदोई: हरदोई के आवास विकास कालोनी में बैंक कर्मचारी की पत्नी के साथ दिनदहाड़े हुई चैन स्नैचिंग की घटना से हड़कंप मच...