होमउन्नावभाई-बहन ने की माँ की हत्या, वजह जानकार आप होगें हैरान और...

भाई-बहन ने की माँ की हत्या, वजह जानकार आप होगें हैरान और परेशान

उन्नाव: शहर के सिविल लाइंस में महिला की हत्या के खुलासे ने रिश्तों को शर्मशार कर दिया। बेटा-बेटी ने अपनी ही मां का कत्ल कर दिया। अवैध संबध और शादी करने की जिद ने भाई-बहन ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। 

शहर के सिविल लाइंस में हुई महिला की हत्या के खुलासे में जो कुछ भी सामने आया, उसे सुनकर हर कोई हैरान और परेशान है। किसी को विश्वास ही नहीं हो रहा कि बच्चे ही अपनी मां का क़त्ल कर सकते हैं। हत्या के पीछे का कारण, लोगों को और भी हैरान और परेशान कर रहा है।

कोतवाली प्रभारी राजेश पाठक के अनुसार हत्या की इस घटना के खुलासा कर लिया गया, लेकिन हत्या, रिश्तों और वजह जो सामने आई उसने हैरान कर दिया। उन्होंने बताया शुरू में तो विश्वास ही नहीं हुआ कि ऐसा भी हो सकता है।

रविवार रात हुई महिला की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया। मृतक महिला के बेटे और बेटी ने ही उसकी चाकू से गोदकर हत्या की थी। दोनों भाई बहनों में पहले बोलचाल नहीं थी, लेकिन दो साल से दोनों में काफी नजदीकी थी और अब शादी करना चाहते थे.

सीओ सिटी आशुतोष कुमार ने बताया कि घटना स्थल के पास एक घर से मिले सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में युवक और युवती (सौतेले भाई-बहन) एक साथ जाते दिखे थे। पुलिस सर्विलांस की मदद से दोनों को भागने से पहले ही दबोच लिया।

हत्या से पहले पिलाई थी शराब

पूछताछ में दोनों ने बताया कि दोनों एक-दूसरे से प्यार करते हैं और शादी करना चाहते थे। लेकिन मां शशी इसमें बाधक थीं। इसीलिए उन्हें रास्ते से हटाने के लिए दोनों ने उनकी हत्या करने की योजना बनाई। शिवम के अनुसार मां शराब की लती थी। रविवार रात उसने माँ को मीट के साथ शराब भी पिलाई। मौका मिलते ही इसी चाकू से मां की हत्या की और वह किसी भी सूरज में न बचे इसके लिए तकिया से मुंह भी दबाया।

गोद भराई से दोनों थे नाराज

आरोपी शिवम ने बताया कि वह पूजा से प्यार करता था। मां शशी को इसकी जानकारी थी, इसके बाद भी पूजा की शादी सफीपुर निवासी मनोज नाम के युवक से तय कर दी थी। मां ने दस दिन पहले पूजा की गोदभराई भी कर दी थी। तभी से दोनों ने मां को रास्ते से हटाने की योजना बनानी शुरू कर दी थी।

पुलिस से बचने को भरी मांग
हत्या करने के बाद भाग रहे आरोपी शिवम ने रास्ते में लाल रंग का गुलाल खरीदकर पूजा की मांग भर दी थी। ताकि रास्ते में कहीं पुलिस उन्हें रोकर पूछताछ न करे। योजना थी कि अगर कोई पूछेगा, तो बताएंगे कि त्योहार पर अपने घर जा रहे हैं।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें