Homeहरदोईपराली न जलाये किसान पेस्ट डिकम्पोजर का प्रयोग कर सढ़ायें और खाद...

पराली न जलाये किसान पेस्ट डिकम्पोजर का प्रयोग कर सढ़ायें और खाद के रूप में प्रयोग करें: जिलाधिकारी

spot_img
spot_img

हरदोई: कृषि सूचनातंत्र के सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत संभागीय कृषि शोध केन्द्र परिसर में आयोजित चार दिवसीय विराट किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी के तीसरे दिन विभिन्न विभागों, संस्थानों एवं प्रतिष्ठानों द्वारा लगाये गये स्टॉलों का अवलोकन मुख्य अतिथि जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह ने किया गया।

किसान मेला/कृषि प्रदर्शनी में कृषि के क्षेत्र में नवीनतम शोधों एवं उन्नत तकनीकी का प्रदर्शन किया गया है जिसमें जिलाधिकारी ने गहरी अभिरूचि दिखाई गई एवं स्टॉल पर उपलब्ध विशेषज्ञों से उनके उत्पादों एवं तकनीकी के बारे में जानकारी ली।

यह भी पढ़ें : किसानो को मुर्रा भैंस का सीमेन दिया जाए: पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री

किसान मेला/कृषि प्रदर्शनी का अवलोकन करने के पश्चात् जिलाधिकारी ने दीप प्रज्ज्वलन कर जनपद स्तरीय रबी उत्पादकता गोष्टी का शुभारम्भ किया गया।

जिलाधिकारी ने अपने उद्बोधन में अवगत कराया कि शासन एवं प्रशासन किसानों के हित में और उनकी आर्थिक स्थिति के उन्नयन के लिये सतत् प्रयत्नशील है। प्राकृतिक आपदा से क्षतिपूर्ति के लिये प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत जनपद के 37709 किसानों ने अपनी खरीफ फसलों का बीमा कराया गया है।

WhatsApp Image 2022 10 17 at 5.05.03 PM min

बाढ़ एवं अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों में किसानों की क्षतिपूर्ति के लिये राजस्व व कृषि विभाग द्वारा सर्वे का कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री कृषक सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत जनपद के 714274 पंजीकृत कृषकों में से 664,902 किसानों के भूलेख सत्यापन का कार्य किया जा चुका है.

जिलाधिकारी ने कहा उप कृषि निदेशक कार्यालय एवं समस्त विकास खण्डों के राजकीय कृषि बीज भण्डारों पर कॉल सेन्टर स्थापित किये गये हैं जिनमें किसान अपनी समस्या दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने कहा यदि किसी पात्र कृषक को किस्त प्राप्त नहीं होती है तो यह अपने विकास खण्ड के राजकीय कृषि बीज भण्डार पर सम्पर्क करे।

जिलाधिकारी ने अनुरोध किया कि पर्यावरण सुरक्षित रखने हेतु पराली न जलाने और पराली को खेतों में ही यूरिया का छिड़काव करके अथवा पेस्ट डिकम्पोजर का प्रयोग कर भली भांति सढ़ाते हुये उसका खाद के रूप में प्रयोग करें, जिससे खेतों में कार्बनिक जीवांश की वृद्धि होती है तथा फसलोत्पादन में वृद्धि होती है।

किसान मेला/कृषि प्रदर्शनी में कृषि के क्षेत्र में नवीनतम शोधों एवं उन्नत तकनीकी का प्रदर्शन किया गयाः-डॉ0 नन्द किशोर

उप कृषि निदेशक डा0 नन्द किशोर द्वारा मुख्य अतिथि महोदय प्रतिभागी अधिकारियों, कर्मचारियों, मीडिया कार्मिकों तथा कृषक भाईयों का स्वागत करते हुये अवगत कराया कि किसान मेला/कृषि प्रदर्शनी का आयोजन जनपद के किसान भाईयों को कृषि के क्षेत्र में हो रहे नवीनतम शोधों एवं उन्नत कृषि तकनीकी से परिचित कराना है ताकि कृषक भाई इस नवीनतम तकनीकी का प्रयोग करने हेतु प्रेरित हों और कम लागत में अपनी फसलों की उत्पादन वृद्धि कर सकें।

इस अवसर परभूमि संरक्षण अधिकारी (प्रथम) नरोत्तम कुमार, भूमि संरक्षण अधिकारी (द्वितीय) डा० निधि राठौर, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी विनीत कुमार, उप परियोजना निदेशक (आत्मा) जयराम सिंह के साथ-साथ बड़ी संख्या में क्षेत्रीय कर्मचारी भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अन्त में उप कृषि निदेशक द्वारा मुख्य अतिथि प्रतिभागी समस्त अधिकारीगणों, कर्मचारियों, मीडिया कार्मिकों तथा किसान भाईयों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

spot_img
- Advertisment -spot_img

ताज़ा ख़बरें