होमविज्ञान/तकनीकCCI कार्रवाई: Google Play Store बिलिंग पॉलिसी की जांच के आदेश

CCI कार्रवाई: Google Play Store बिलिंग पॉलिसी की जांच के आदेश

spot_img

Google Play Store: कुछ भारतीय ऐप्स को Google Play Store से बैन करने के बाद, Google की चिंता बढ़ गई है। भारत सरकार ने Google और भारतीय कंपनियों के बीच में आए इस तनाव को समाप्त किया और तत्काल इस समस्या का समाधान निकाला। अब Google ने सभी ऐप्स को Play Store पर फिर से लिस्ट करने के लिए 4 महीने लिए है, लेकिन उनकी चिंता कम नहीं हुई है।

Google की नीति की जांच की जाएगी

अब भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग, अल्फाबेट स्वामित्व वाली Google पर जांच का आदेश दिया है। भारत के इस सरकारी नियामक निकाय ने Google के इन-एप बिलिंग सिस्टम और उसकी नीतियों की जांच करने का आदेश दिया है।

नियामक निकाय के अनुसार, Google ने अपने बिलिंग सिस्टम को लागू करने के लिए देश के प्रतिस्पर्धा कानून के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। इस सरकारी निकाय ने अपनी जांच टीम को आदेश दिए हैं कि वह जांच को 60 दिनों के भीतर पूरा करे। CCI ने भारतीय ऐप डेवलपरों के बार-बार अनुरोधों पर यह निर्णय लिया है।

Google Play Store से ये ऐप्स हटा दिए गए थे

बता दें कि Google ने भारत के 10 प्रसिद्ध ऐप्स Alt Balaji, QuackQuack, Truly Madly, Stage, Naukri.com, Shaadi.com, Bharat Matrimony, Kuku FM, 99acres, और Jeevansathi को Play Store से हटा दिया था। Google ने कहा कि इन ऐप्स ने उनकी बिलिंग नीति के अनुसार भुगतान नहीं किया और भुगतान करने से भी मना किया।

इस कारण, Google ने इन सभी ऐप्स को Google Play Store से हटाने की धमकी दी थी, जिसे भारतीय ऐप कंपनियों ने पहले मद्रास उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी, लेकिन उच्च न्यायालय ने इन ऐप्स की याचिका को खारिज कर दिया। इसके बाद, भारतीय ऐप्स ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की और Google Play Store से ऐप्स को हटाने से बचाने का अनुरोध किया, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय ऐप्स की यह याचिका भी खारिज कर दी। अब आने वाले 4 महीनों में इस मामले में क्या होता है, यह देखना होगा।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें