Homeविज्ञान/तकनीकPliosaur: वैज्ञानिकों के सामने आया ‘खूंखार’ समुद्री जीव, 15 करोड़ वर्ष पहले...

Pliosaur: वैज्ञानिकों के सामने आया ‘खूंखार’ समुद्री जीव, 15 करोड़ वर्ष पहले था खतरनाक शिकारी

Pliosaur: वैज्ञानिकों ने इंग्लैंड के तट पर एक समुद्र में रहने जीव की खोपड़ी खोजी है, अनुमान लगाया जा है कि यह जीव 15 करोड़ साल पहले मौजूद था। खोपड़ी नुमा जीवाश्‍म प्लियोसॉर (pliosaur) के 2 मीटर लंबे जीवाश्‍म का पता लगाया गया है और यह सबसे पूरा और अच्छा नमूना है. अभी तक प्लियोसॉर (pliosaur) का ऐसा नमूना नहीं मिला है।

व्हाटऐप चैनल से जुड़ें Join Now
टेलीग्राम चैनल से जुड़ें Join Now
गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें Follow

इससे माना जा रहा है कि इससे प्लियोसॉर के व्यवहार और और उसकी साइकोलॉजी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सकती है। प्लियोसॉर (pliosaur) समुद्र में रहने वाला एक खूंखार रेप्टाइल था, जो अपने शिकार को एक चबाकर मार डालता था।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह खोपड़ी मनुष्यों से भी लंबी है। इससे स्पष्ट होता है कि प्लियोसॉर बहुत बड़ा जीव था। रिपोर्ट के मुताबिक, प्लियोसॉर के दांत लंबे और नुकीले थे, इससे पता चलता है कि वह बहुत ही घातक और मांसाहारी थे। गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, इस जीवाश्‍म के दर्जनों नुकीले दांतों के अवशेष भी मौजूद हैं।

प्लियोसॉर इतने खतरनाक थे कि अन्‍य प्लियोसॉर को भी वह नहीं बख्शते थे। उनका भी शिकार कर डालते थे। स्टीव एचेस और फिल जैकब्स ने इसे दक्षिणी इंग्लैंड के जुरासिक तट पर खोजा जहां वे टहल रहे थे। इस जीवाश्‍म की खोज ने इसे सबसे अच्छा जीवाश्‍म बनाया है। यहां तक कि ज्‍यादातर चीजें इसमें मौजूद हैं। हालांकि, यह जीवाश्‍म कुछ विकृत हो चुका है।

231208194345 02 bbc pliosaur sea monster
Pliosaur fosil- फोटो- CNN

pliosaur के जीवाश्‍म पर बनेगी डॉक्युमेंट्री

pliosaur के जीवाश्‍म पर एक डॉक्युमेंट्री बनाई जा रही है जो नए साल पर बीबीसी पर प्रसारित की जाएगी। ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के डॉ. आंद्रे रोवे के अनुसार, इस जीवाश्‍म की भारी आकार की बजह से वह किसी भी जीव को आसानी से शिकार कर सकता था। उन्‍होंने इसकी एक खतरनाक डायनासोर से भी तुलना की है। वैज्ञानिक अब इस जीवाश्‍म के बाकी हिस्सों की तलाश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें –

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें