Home देश Har Har Shambhu : हर हर शंभू सिंगर के नाम पर फैलाया...

Har Har Shambhu : हर हर शंभू सिंगर के नाम पर फैलाया जा रहा झूठ, ओरिजिनल क्रिएटर्स ने कहा फरमानी नाज माफीनामा जारी करें नहीं तो कानून का सहारा लूंगा

हर हर शंभू गाने पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस गाने से फरमानी नाज काफी चर्चे में आ चुकी हैं. धमकी मिलने के बाद उनके सपोर्ट में कई लोग आ खड़े हुए. उन्होंने हर जगह इस हर हर शंभू गाने को अपनी टीम का कम्पोजिशन बता कर वाहवाही भी लूटी.

Agniveer Admit Card 2022: अग्निवीर भर्ती के एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें डाउनलोड

जिसके बाद से विवाद से और ज्यादा गहरा गया है. क्योंकि हर हर शंभू गाने के असली दावेदार अब सामने आ गए हैं, और उन्होंने साफ चेतावनी जारी की है कि फरमानी नाज इस गाने को अपना बताने के लिए माफीनामा जारी करें, नहीं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. हर हर शंभू गाने के ओरिजिनल क्रिएटर्स अभिलिप्सा पांडा और जीतू शर्मा ने एक TV चैनल पर कई खुलासे किए. 

फेक अकाउंट से हो रहे सभी पोस्ट

सोशल मीडिया में अभिलिप्सा और जीतू के नाम से कई अकाउंट्स देखे जा सकते हैं. जिन्हें उनका ओरिजिनल बताया जा रहा है. इन अकाउंट्स से कई विवादित और भड़काऊ ट्वीट भी किए जा रहे हैं.

इसके बारे में जीतू ने कहा- ‘हमारा उनसे कोई लेना देना नहीं है. हम सिर्फ अपना काम करते हैं.’ अभिलिप्सा ने बताया कि, ‘मैं सिर्फ 18 साल की हूं, मैंने डेढ़ महीने पहले अपना अकाउंट बनाया है. मैं एक सिंगर हूं एक आर्टिंस्ट हूं, मैं क्या करूंगी ये सब कर के. मैं अकाउंट बनाने गई तब देखा कि मेरे नाम से पहले ही कई अकाउंट बनाए जा चुके हैं.’ अभिलिप्सा ने बताया कि वो @Jazz_from_Abhilipsa के नाम से इंस्टाग्राम पर हैं. और ट्विटर पर @Abhi_30_lipsa नाम से हैं. वहीं जीतू सिर्फ @jitubbl के यूजर नाम से ट्विटर पर हैं. 

हर हर शंभू गाना अभिलिप्सा पांडा ने गाया है और इसका कम्पोजिशन जीतू शर्मा ने किया है. दोनों ही ओडिशा के रहने वाले हैं. जमशेदपुर में इस गाने की रिकॉर्डिंग की गई है. जीतू बताते हैं कि महादेव को समर्पित इस गाने के लिरिक्स उन्होंने खुद लिखे हैं. वो हर हर शंभू गाने को 17 अप्रैल को ही रिलीज कर चुके थे, लेकिन कॉपीराइट इशू की वजह से यूट्यूब ने इस गाने को डिलीट कर दिया था.

10 अप्रैल को इस गाने पर साउथ अफ्रीका की महादेव भक्त अर्चिता गोपी की तरफ से कापीराइट आया. क्योंकि उनके भजन की दो लाइने हमारे गाने से मिलती थी. जिसके बाद हमने उन्हें क्रेडिट दिया और उन्होने इस क्लेम को हटा दिया. हमारा गाना वापस 5 मई को यूट्यूब पर दिखने लगा. जिसके बाद ये ट्रेंड में नंबर वन बना. 

जीतू ने बताया कि फरमानी नाज का गाना 24 जुलाई को रिलीज हुआ. जिसके बाद उनके खिलाफ फतवा जारी हुआ और सोशल मीडिया में उनके गाने को हाइक मिल गया. मुझे उनके लिए खुशी हुई, लेकिन उन्होंने नेशनल मीडिया में जाकर कहा कि ये हमारा ओरिजिनल सॉन्ग है, सब हमने किया. उन्होने झूठ बोला, ये सारा कॉम्पोजिशन हमारा है. उनके झूठे स्टेटमेंट में मुझे दुख हुआ. मैं बस चाहता हूं कि वो एक सॉरी वीडियो जारी करे. मैं एक हफ्ता वेट करूंगा, उसके बाद कानून का सहारा लूंगा. 

- Advertisement -

लेटेस्ट

Hardoi: मंत्री नितिन अग्रवाल ने अखिलेश यादव पर बोला हमला कहा – जनादेश का कर रहे हैं अपमान

हरदोई: अपने गृह जनपद आये आबकारी मंत्री नितिन अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य...

Amazon Sale में बंपर ऑफर, स्मार्टफोन्स पर 40% तक है डिस्काउंट

अगर आप नया स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं, तो Amazon पर चल रही सेल का लाभ उठा सकते हैं. 4 फरवरी...

बुलेट (Bullet 350) सिर्फ 18700 रुपये की, चौंक गए लेकिन यह सच है!

Royal Enfield Bullet 350: सोशल मीडिया पर एक बुलेट (Bullet 350) का बिल वायरल हुआ है, जिसे देखकर कोई भी हैरान हो...

Hardoi: वर्दी में शराब पीना दरोगा जी को पड़ा भारी, एसपी राजेश द्विवेदी ने किया निलंबित

हरदोई: वर्दी में शराब पीना एक इंस्पेक्टर साहब को महंगा पड़ गया. वर्दी में शराब पीने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो...