Homeहरदोईअंबेडकर के प्रपौत्र ने कहा, दुनिया की कोई ताकत भारत को हिंदू...

अंबेडकर के प्रपौत्र ने कहा, दुनिया की कोई ताकत भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं कर सकती

spot_img
spot_img

पिहानी/हरदोई: कस्बे के हामिद अली इंटर कॉलेज के मैदान में शिरोमणि गुरु रविदास की 647 वी जयंती समारोह पर डॉ भीमराव अंबेडकर जन्मोत्सव एवं जन कल्याण समिति की ओर से आयोजित विशाल जनसभा एवं संस्कृत कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

हामिद अली इंटर कॉलेज की विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए राजरतन अंबेडकर ने कहा कि कि दुनिया की कोई ताकत भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं घोषित कर सकती। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरा संविधान बदलने की कोशिश कर रहे हैं। भाजपा के अपनी सरकार में मनमानी कर रही है।

ब्रह्मा, विष्णु ,दुर्गा ,काली व राम को मैं नहीं मानता हूं: राजरतन अंबेडकर

राजरतन अंबेडकर ने कहा कि धर्म की आड़ में गरीब मजलूम जनता को आपस में लड़ आया जा रहा है। ब्रह्मा, विष्णु ,दुर्गा ,काली व राम को मैं नहीं मानता हूं। परंतु इनका अपमान भी नहीं करता हूं। इन सभी को न मानना कोई गाली नहीं है।

रतनलाल अंबेडकर ने तंज कसते हुए कहा कि कोई बाबा थे जिन्होंने कहा था कि यदि भारत हिंदू राष्ट्र नहीं घोषित होगा तो वह आत्महत्या कर लेंगे। दुनिया की कोई ताकत भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं कर सकती। हम सभी भारतीय हैं। यह देश मुसलमानों व बौद्ध के साथ 132 करोड़ भारतीयों का है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी रेलवे विद्युत विभाग पुलिस हर चीज को बेचे जा रहे हैं। शिक्षा में बदलाव करके बहुजनों के साथ अन्याय हो रहा है। हमें अपनी हिस्सेदारी लेनी होगी। इसके लिए सभी बहुजन लोग जागरुक हों और जाति व्यवस्था को खत्म करें। बच्चों को शिक्षित करें ताकि पूर्वजों का परिवार का नाम रोशन कर सकें। जुआ दारू व आडम्बरो से दूर रहने की नसीहत दी। शिक्षा, बेरोजगारी व सम्मान के लिए लड़ाई लड़ने की जरूरत है

डॉ. भीमराव अंबेडकर के प्रपौत्र बोले- हक लेने को बहुजनों का संगठित होना जरूरी

बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के प्रपौत्र राजरत्न अंबेडकर ने कहा कि बहुजनों को हक तभी मिलेगा, जब वह संगठित होंगे। बहुजन समाज जातियों के नाम पर बटा है। सरकार संविधान को बदलने में लगी है। शिक्षा में बदलाव करके बहुजनों के साथ अन्याय हो रहा है। हमें अपनी हिस्सेदारी लेनी होगी। इसके लिए सभी बहुजन लोग जागरुक हों और जाति व्यवस्था को खत्म करें।

भारत बुद्ध का देश है

हिंदू कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय से आये प्रोफेसर रतन लाल ने पुलिस पर तंज कसते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की पुलिस बाबा के इशारे पर नाच रही है। दलितों पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराए जा रहे हैं। प्रोफेसर राजेंद्र वर्मा लखनऊ विश्वविद्यालय, एडवोकेट सुजीत सम्राट उच्चतम न्यायालय, राहुल नागपाल राष्ट्रीय कवि एवं वरिष्ठ पत्रकार, नीरज पटेल आदि लोगों ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारत बुद्ध का देश है। हमारा मूल धर्म बौद्ध है। इसे अपनाने की जरूरत है। बाबा साहब डॉ. भीम राव आम्बेडकर के विचारों को अपनाना होगा।

संविधान निर्माता बाबा साहब ने तो संविधान में अछूतों के लिए कई अधिकार दिये हैं पर इसे लागू नहीं किया गया। सरकार चलाने वाले लोग गलत हों तो वे किसी काम के नहीं होते हैं।

इस मौके पर अशोक गौतम ,महेंद्र विक्रम, संजय कुमार, मैकूलाल राही ,राम अवतार नागर, डालचंद गौतम, राकेश कुमार एडवोकेट, इंद्रपाल ,मिथिलेश कुमार ,अरविंद कुमा,र हरपाल ,सोनू भारती, राममूर्ति, जमाल साजिद चांद ,राजीव गुप्ता , डॉ अरुण मौर्या,विमलेश तिवारी, ओम प्रकाश डिप्टी सीएम कानपुर, एडिशनल एसपी दुर्गेश कुमार सिंह ,एसडीएम शाहाबाद ,कोतवाल बेनी माधव त्रिपाठी ,अतिरिक्त कोतवाल पी पी सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे।

spot_img
- Advertisment -spot_img

ताज़ा ख़बरें