Homeप्रयागराजशिवपाल यादव का बड़ा बयान, कहा आजीवन समाजवादी पार्टी के लिए ही...

शिवपाल यादव का बड़ा बयान, कहा आजीवन समाजवादी पार्टी के लिए ही काम करूंगा

प्रयागराज: सपा नेता और पूर्व मंत्री शिवपाल यादव ने बड़ा बयान दिया है। शिवपाल यादव ने कहा कि मेरे लिए पद कोई मायने नहीं रखता है। पद मिले या ना मिले आजीवन समाजवादी पार्टी के लिए ही काम करूंगा। यह मेरा अंतिम फैसला है।

व्हाटऐप चैनल से जुड़ें Join Now
टेलीग्राम चैनल से जुड़ें Join Now
गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें Follow

साथ ही उन्होंने यह याद दिलाया कि वह प्रदेश अध्यक्ष, महासचिव ,नेता विपक्षी दल रह चुका हूं और साथ ही मैंने चार बार समाजवादी पार्टी की सरकार बनवाई है। लेकिन इसके बावजूद किसी पद को पाने की कोई लालसा उन्हें नहीं है। शिवपाल यादव ने कहा कि पार्टी में उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी उसे वह ठीक से निभाएंगे, अगर कोई पद या जिम्मेदारी नहीं भी मिली तब भी वह संगठन के लिए काम करेंगे।

उन्होंने कहा कार्यकर्ताओं को सक्रिय करेंगे और पार्टी को मजबूत करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि अब वह पद को छोड़कर पार्टी को मजबूत करने के काम में लगे हुए हैं। उन्होंने बार-बार दोहराया की कोई पद मिले या ना मिले कोई जिम्मेदारी मिले या ना मिले, लेकिन वह आजीवन समाजवादी पार्टी के साथ ही रहेंगे।

शिवपाल यादव ने कहा मैं समाजवादी परंपरा से हूं, जहां मेरे लिए पद कोई मायने नहीं रखता। शिवपाल यादव ने यह भी कहा कि जयप्रकाश नारायण और डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के पास कोई पद नहीं था, लेकिन वह दोनों जब बाहर निकले तो उन्होंने राजनीति में हलचल मचा दी।

शिवपाल यादव ने कहा अखिलेश विपक्ष की भूमिका को अच्छे से निभा रहे हैं

शिवपाल ने कहा कि सपा हमारी पार्टी है। नेताजी की बनाई हुई पार्टी है, इसलिए पद मिले या ना मिले मैं आजीवन इसी में रहूंगा। शिवपाल यादव से जब यह पूछा गया कि उन्हें नेता विपक्षी दल बनाए जाने की चर्चा थी, लेकिन दो हफ्ते बाद भी अखिलेश यादव ने इसका एलान नहीं किया तो शिवपाल ने कहा कि वह पहले भी नेता विरोधी दल रह चुके हैं, इस वक्त अखिलेश इस भूमिका को निभा रहे हैं और अच्छे से एवं बेहतर तरीके से निभा रहे हैं।

बीजेपी की सरकार लोकतंत्र पर हमला कर रही: शिवपाल

शिवपाल यादव ने प्रयागराज में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यूपी की योगी सरकार पर जमकर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियों के नेताओं और कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न कर लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। विपक्ष का ऐसा उत्पीड़न इससे पहले कभी नहीं हुआ। यह लोकतंत्र के लिए खतरा है। बीजेपी की सरकार लोकतंत्र पर हमला कर रही है। मौजूदा सरकार के राज में महंगाई और भ्रष्टाचार के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। 

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें