होमउत्तर प्रदेशफर्जी मुकदमे में जेल भेजना पुलिस को पड़ा मंहगा, एसओ समेत 18...

फर्जी मुकदमे में जेल भेजना पुलिस को पड़ा मंहगा, एसओ समेत 18 पर मुकदमा दर्ज, जाने मामला

आगरा में 50 करोड़ की जमीन के लिए पांच लोगो को फर्जी मुकदमें में जेल भेजना पुलिस को मंहगा पड़ रहा। अब पुलिस आयुक्त के निर्देश पर तत्कालीन एसओ जगदीशपुरा सहित 18 लोगों के खिलाफ डकैती का मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

आरोपित एसओ और बिल्डर फरार

पुलिस आयुक्त के निर्देश पर एसओ जितेंद्र कुमार, बिल्डर कमल चौधरी, बेटा धीरू चौधरी सहित 18 के खिलाफ डकैती का मुकदमा लिखा गया है। कब्जा कराई गई जमीन पर पीड़ित परिवार को फिर से रविवार को स्थापित कराया गया।मामले की जांच के लिए डीसीपी सिटी के नेतृत्व में एसआईटी बनाई गई है। आरोपित एसओ और बिल्डर फरार हो गए हैं।गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम दबिश दे रही हैं।

बताया जाता है कि उक्त दस हजार गज की बेशकीमती भूमि जगदीशपुरा इलाके में बैनारा फैक्ट्री के निकट बीएस कॉप्लेक्स के पास है। रविवार को पुलिस आयुक्त डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने सख्त रुख अख्तियार किया। खुद को जमीन का असली मालिक बताने वाली उमा देवी कुशवाह की तहरीर पर जगदीशपुरा थाने में मुकदमा लिखाया गया।

क्या कहा पुलिस आयुक्त ने ?

पुलिस आयुक्त ने बताया कि इस घटना में जो भी शामिल हैं, उसे सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। पुलिस का काम जमीन पर कब्जे कराने का नहीं है। पीड़ित परिवार डरते हुए शाम को पुलिस के सामने आया। पुलिस ने कहा कि उसी जगह है वह रहें। परिवारीजन वहां पहुंच गए।,उनकी खुशी का ठिकाना नहीं हैं।

एक टीस मन में जरूर है वे चाहते हैं कि जिनकी वजह से वे बेकसूर होते हुए भी जेल में रहे उन्हें भी जल्द से जल्द जेल भेजा जाए। पुलिस ने आरोपित एसओ जितेंद्र कुमार और बिल्डर कमल चौधरी को पकड़ने के लिए दबिश दी लेकिन दोनों अंडरग्राउंड हो गए हैं, उनकी तलाश की जा रही है।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें