होमउत्तर प्रदेशगीता प्रेस के ट्रस्टी बैजनाथ अग्रवाल का 90 वर्ष की उम्र में...

गीता प्रेस के ट्रस्टी बैजनाथ अग्रवाल का 90 वर्ष की उम्र में निधन, सीएम योगी ने जताया दुःख

Baijnath Agarwal Death: गीता प्रेस गोरखपुर के ट्रस्टी बैजनाथ अग्रवाल का 90 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. वह साल 1950  में इससे जुड़े थे. शहर के सिविल लाइंस स्थित हरिओमनगर आवास पर शुक्रवार रात बैजनाथ अग्रवाल ने अपनी अंतिम सांस ली. आपको बता दें पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बतौर ट्रस्टी सम्मानित किया था. 

मुख्यमंत्री योगी ने जताया दुख 

बैजनाथ अग्रवाल के निधन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख व्यक्त किया है. उन्होंने अपने एक्स (ट्विटर) पर लिखा, “गीता प्रेस, गोरखपुर के ट्रस्टी श्री बैजनाथ अग्रवाल जी का निधन अत्यंत दुःखद है. विगत 40 वर्षों से गीता प्रेस के ट्रस्टी के रूप में बैजनाथ जी का जीवन सामाजिक जागरूकता और मानव कल्याण के लिए समर्पित रहा है. उनके निधन से समाज को अपूरणीय क्षति हुई है. प्रभु श्री राम दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल परिजनों और संपूर्ण गीता प्रेस परिवार को यह अथाह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें.”  

गीता प्रेस को गांधी शांति से किया जा चुका है सम्मानित 

वर्ष 2021 में संस्कृति मंत्रालय की ओर से गीता प्रेस को गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ”गीता प्रेस विश्व का ऐसा इकलौता प्रिंटिंग प्रेस है, जो सिर्फ एक संस्था नहीं है बल्कि एक जीवंत आस्था है. उन्होंने कहा था कि इस प्रेस का कार्यालय करोड़ों लोगों के लिए किसी भी मंदिर से जरा भी कम नहीं है.”

वर्ष 1923 में हुई थी शुरुआत

गीता प्रेस की शुरुआत सन 1923 में हुई थी. इसके संस्थापक महान गीता-मर्मज्ञ श्री जयदयाल गोयन्दका थे. आपको बता दें यह दुनिया के सबसे बड़े प्रकाशकों में से एक है, जिसने 14 भाषाओं में 41.7 करोड़ पुस्तकें प्रकाशित की हैं, जिनमें श्रीमद्‍भगवद्‍गीता की 16.21 करोड़ प्रतियां शामिल हैं. 

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें