Homeहरदोईपिहानी में शिवलिंग प्रकट होने की खबर, प्रशासन ने मंदिर को किया...

पिहानी में शिवलिंग प्रकट होने की खबर, प्रशासन ने मंदिर को किया सील

पिहानी/हरदोई: पिहानी कोतवाली क्षेत्र के सिमौर गांव स्थित शिवमंगल आश्रम मंदिर में स्वत: शिवलिंग प्रकट होने की खबर चर्चित होने के बाद एक बार दोबारा सुर्ख़ियों में आ गया। इससे पूर्व 2010 में यह आश्रम श्री रामचंद्र की नई मूर्ति लगाने के विरोध के कारण सुर्खियों में रहा था। बुधवार को पुलिस ने मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में मंदिर पर ताला लगाकर सील कर दिया है।

व्हाटऐप चैनल से जुड़ें Join Now
टेलीग्राम चैनल से जुड़ें Join Now
गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें Follow

ग्रामीणों के बुधवार को गांव में यह खबर फैल गई के आश्रम स्थित मंदिर में शिवलिंग स्वत: प्रकट हो गया है और शिवलिंग की विधिवत किसी ने दुर्गा अभिषेक करके और पुष्प आदि चढ़कर पूजा भी की है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मंदिर का टूटा हुआ ताला भी वहां पर पड़ा हुआ था।

इस संबंध में कोतवाल सुनील दत्त कौल ने बताया कि ग्राम प्रधान द्वारा सूचना दी गई। सूचना पर वे स्वयं आश्रम स्थल पर पहुंचे। वहां मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में मंदिर को सील कर दिया गया है और उक्त शिवलिंग को ग्राम इटारा के निकट खेमा ताली में स्थापित कर दिया गया है। सन 2010 में हुए समझौते का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम है।

आपको बताते चलें सन 2010 में बसपा शासन था। तत्कालीन जिलाधिकारी श्री अवधेश कुमार सिंह ने सूझबूझ से मामला सुलझा दिया था। एसडीएम सीओ की उपस्थिति में बौद्ध धर्मावलंबियों वह हिंदू समाज के लोगों में आपसी समझौता कर दिया गया था।

इस समझौते में दोनों पक्ष इस बात पर राजी हो गए थे कि यहां पर कोई नई मूर्ति नहीं लगाई जाएगी और ना ही कोई नया धार्मिक आयोजन होगा। उस समय बसपा शासन था और बौद्ध धर्मावलंबी इस आश्रम पर अपना हक बता रहे थे तथा हिंदू धर्मावलंबियों द्वारा श्री रामचंद्र की मूर्ति लगवाने का प्रबल विरोध किया था।

जिला प्रशासन ने आश्रम पर यथा स्थिति बनाए रखने का आदेश दे दिया था। श्री रामचंद्र जी की मूर्ति काफी समय तक एक छप्पर के नीचे रखी रही थी, बाद में उसे एक मंदिर में स्थापित कर दिया गया।

spot_img
- Advertisment -

ताज़ा ख़बरें