Home हरदोई निराश्रित बच्चों के चिह्नीकरण का कार्य 15 दिन में पूरा करा लिया...

निराश्रित बच्चों के चिह्नीकरण का कार्य 15 दिन में पूरा करा लिया जाए:DM

हरदोई : जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने कहा कि कोविड-19 के प्रतिकूल प्रभाव से माता-पिता को खोने अथवा दोनों के बीमार होने की दशा में ऐसे परिवार के बच्चों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराई जाए। निराश्रित बच्चों के चिह्नीकरण का कार्य 15 दिन में पूरा करा लिया जाए।

यह भी पढ़े : सड़क जाम करने के मामले में 7 नामजद, 40 अज्ञात पर रिपोर्ट

जिलाधिकारी ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में निराश्रित बच्चों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए गठित टास्क फोर्स बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी से कहा कि कोविड-19 संक्रमण ने बच्चों और महिलाओं को प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया है। दुर्भाग्यवश कई आपराधिक तत्व ऐसी स्थिति का लाभ उठाने के लिए सक्रिय हैं और इन बच्चों को गोद लेने की पेशकश की जाती है। ऐसे लोगों की गोद लेने की अवैध पेशकश पर पूरी तरह से विराम लगाया जाना है।

डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

देश की हर नौकरी की खबर आप तक सबसे पहले आपकी अपनी एप्प “रोजगार अलर्ट “पर

उन्होंने कहा कि शासन की व्यवस्था अनुसार शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता की कोविड-19 महामारी के कारण मृत्यु हो गई है अथवा दोनों बीमार हैं। ऐसे निराश्रित बच्चों को खाना आदि की व्यवस्था करने वाला कोई नहीं है, उनका चिह्नांकन आंगनबाड़ी और पंचायत सचिव के माध्यम से 15 दिन में करा लिया जाए। ऐसे बच्चों की चिह्नांकन सूची प्रतिदिन सभी खंड विकास अधिकारी द्वारा सत्यापित कर सीडीओ को उपलब्ध कराएंगे। समिति के सदस्यों से कहा कि ऐसे बच्चों के संबंध में जानकारी प्राप्त होने पर तत्काल सहायता उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें: देश और प्रदेश की लेटेस्ट ख़बरों के लिए अभी डाउनलोड करें HDI Bharat News App

डीडीओ राजेंद्र प्रसाद, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष शिशिर गौतम, डीपीओ सुशील कुमार सिंह, डीपीओ बुद्धि मिश्रा, जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार, अपर जिला सूचना अधिकारी दिव्या निगम आदि मौजूद रहे।

- Advertisment -

Most Popular

डीएम अविनाश कुमार, सीडीओ आकांक्षा राना समेत 126 महादानियों ने किया रक्तदान

हरदोई। अमर उजाला फाउंडेशन के तत्वावधान में बुधवार को आयोजित रक्तदान शिविर में 126 महादानियों ने रक्तदान कर समाज को जनहित में...

क्या है ‘ग्लू ग्रांट’ (Glue Grant) योजना व ‘मेटा विश्‍वविद्यालय’ (Meta University)अवधारण?

चालीस केंद्रीय विश्वविद्यालय अकादमिक क्रेडिट बैंक व यूजी पाठ्यक्रमों में बहु-विषयक (multidisciplinary) को प्रोत्साहित करने के लिए ग्लू ग्रांट (Glue Grant) जैसे...

रोजा-इफ्तार कराने वाले लगा रहे संगम में डुबकी:उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

हरदोई : रसखान प्रेक्षागृह में पांच अरब 96 करोड़ 95 लाख रुपये की 159 कार्यों की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने...

65 बाघों का घर, पीलीभीत टाइगर रिजर्व, Pilibhit Tiger Reserve

पीलीभीत बाध अभयारण्य उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में स्थित है और 2014 में इसे टाइगर रिजर्व के रूप में अधिसूचित किया...

Recent Comments

Translate »